ATS की जांच में खुलासा, यूपी में अवैध धर्मांतरण के लिए विदेश से हुई 100 करोड़ की फंडिंग

Shubham Bajpai, Last updated: Sun, 17th Oct 2021, 9:26 AM IST
  • यूपी में चल रहे अवैध धर्मांतरण के मामले में एटीएस को विदेशी फंडिंग के कई चौंकाने वाले सबूत मिले हैं. जानकारी अनुसार, एटीएस को 100 करोड़ से ज्यादा हवाला के जरिए विदेशी फंडिंग के सबूत मिले हैं.  इससे पहले एटीएस ने उमर गौतम, कलीम सिद्दीकी समेत कई लोगों को गिरफ्तार भी किया.
यूपी अवैध धर्मांतरणः एटीएस को जांच में मिले 100 करोड़ की ज्यादा की विदेशी फंडिंग सबूत

लखनऊ. यूपी में अवैध धर्मांतरण के मामले में आरोपियों की लगातार गिरफ्तारी के बाद अब एटीएस को अवैध विदेशी फंडिंग के भी सबूत मिले हैं. टीम को यह फंडिंग हवाला के जरिए होने की जानकारी मिली है. टीम के पास करीब 100 करोड़ से अधिक की फंडिंग के सबूत मिल हैं. वहीं, टीम अब इस मामले विदेशी फंडिंग के मामले को लेकर भी जांच कर रही है.

आरोपियों ने फंडिंग के पैसे को निजी कामों में किया खर्च

एटीएस को इस मामले में जांच में पता चला कि आरोपियों को विदेशी फंडिंग से जो पैसा मिला है उसको उपयोग आरोपियों ने अपने निजी कामों में किया. साथ ही आरोपियों ने इस पैसे से कई निजी संपत्तियां भी बनाई हैं. वहीं, एटीएस द्वारा आरोपियों से पूछताछ में वो इन संपत्तियों के स्त्रोत नहीं बता पाए हैं,

.योगी सरकार का बड़ा फैसला, कर्मचारियों ने नहीं दिया यह कागज तो गिरेगी गाज

गिरफ्तार आरोपियों में कई के अलकायदा से संबंध

इस मामले में एटीएस द्वारा गिरफ्तार कई आरोपियों में दो के आंतकी संगठन अलकायदा से जुड़े होने की बात भी सामने आई है. साथ ही एटीएस अब बाकी के आंतकी संगठन से संबंध और विदेशी फंडिंग को लेकर सबूत इकट्ठा कर रहे हैं.-

सिंघु बॉर्डर पर दलित की हत्या पर भड़की मायावती, कहा- 50 लाख और नौकरी दें पंजाब CM

अमेरिका, इंग्लैंड समेत कई देशों से होती थी फंडिंग

एटीएस ने कोर्ट को जानकारी दी कि आरोपियों को अमेरिका, इंग्लैंड समेत कई खाड़ी देशों से हवाला समेत अन्य माध्यमों से फंडिंग के सबूत मिले हैं. एटीएस ने बताया कि मामले के मुख्य आरोपी उमर गौतम द्वारा संचालित अल-फला ट्रस्ट को करीब 57 करोड़ रुपये और जामिया इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट के प्रमुख मौलाना कलीम सिद्दाकी को 22 करोड़ की फंडिंग की गई है.

बता दें कि एटीएस ने यूपी में चल रहे अवैध धर्मांतरण के मामले में सबसे पहले उमर गौतम को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद टीम ने मेरठ से कलीम सिद्दाकी समेत उसके कई साथियों को भी इस मामले में गिरफ्तार किया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें