UP शादी गाइडलाइंस: बारात में बैंड-बाजा, डीजे बजेगा, बस लोग 100 से ज्यादा नहीं

Smart News Team, Last updated: 23/11/2020 06:10 PM IST
  • यूपी सरकार की कोरोना रोकथाम के लिए जारी नई गाइडलाइंस के अनुसार शादी-ब्याह, राजनीतिक, सांस्कृतिक समेत अन्य किसी भी आयोजन में शामिल होने वाले लोगों की संख्या 100 कर दी गई है. समारोह स्थल पर मौजूद बैंड-बाजे वाले से लेकर फोटोग्राफर तक की गिनती भी 100 में ही होगी.
कोरोना रोकथाम के लिए यूपी सरकार ने शादी समारोह में शामिल होने वालों की संख्या 100 की.

लखनऊ. यूपी में सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं. जिसमें शादी-ब्याह या अन्य किसी समारोह में एक समय पर 100 से ज्यादा लोगों के इकठ्ठा होने की अनुमति नहीं है. ऐसे में जिन लोगों के घर शादी समारोह है वह परेशान हैं कि बिना मेहमान, बैंड-बाजा-बारात के कैसे विवाह किया जाए. उनके लिए राहत की बात ये है कि सरकार ने बारात निकालने, बैंड-बाजा के साथ शादी करने पर पाबंदी नहीं लगाई है. 

वहीं बता दें कि बैंड बजाने, फोटोग्राफर समेत शादी समारोह में मौजूद सभी लोगों की गिनती 100 में ही की जाएगी. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस के अनुसार आयोजन किसी बंद हॉल में किया जाता है तो समारोह स्थल की क्षमता के 50 फीसदी लोगों को ही शामिल किया जा सकता है और किसी भी समय 100 से अधिक लोगों के शामिल होने की अनुमति नहीं दी गई है.  

यूपी कोरोना गाइडलाइंस: शादी हो या समारोह, एक टाइम 100 से ज्यादा लोग जुटे तो FIR

वहीं अगर खुले एरिया में आयोजन किया जा रहा है तो स्थल की क्षमता के 40 प्रतिशत लोगों को ही एक बार में शामिल होने की अनुमति दी गई है. वहीं एक समय पर अधिकतम कितने लोग शामिल हो सकते हैं इस पर स्थिति साफ नहीं है.  

NHAI हाईवे पर बिना फास्टैग 1 जनवरी से कैश में दोगुना टोल टैक्स लेन फाइन

मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने बताया कि 23 नवंबर के इस आदेश के बाद पहले जारी आदेशों को शिथिल किया जाता है और नए निर्देशों को सख्ती से पालन करने के लिए कहा है. नई गाइडलाइंस के अनुसार आय़ोजन चाहे बंद हॉल में हो या किसी खुले मैदान में वहां सभी लोगों का मास्क पहनना अनिवार्य है. इसी के साथ हैंड सैनिटाइजर और हैंड वॉशिंग की सुविधा का होना भी अनिवार्य किया गया है. 

उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव का ताजा कोरोना गाइडलाइंस नीचे पढ़ सकते हैं

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें