किसानों को कृषि यंत्र में मिलने वाले अनुदान पर जालसाजों की नजर, पोर्टल हैक कर आवेदन किये

Nawab Ali, Last updated: Sat, 16th Oct 2021, 8:16 AM IST
  • उत्तर प्रदेश में किसानों को कृषि यंत्रो की खरीददारी के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार अनुदान देती है लेकिन इस अनुदान पर भी साइबर ठगों की नजर है. साइबर ठगों ने यंत्रों की खरीददारी के लिए आवेदन पोर्टल को हैक कर लिया है. जिसके बाद मामले का खुलासा होने पर कृषि विभाग ने सभी आवेदन निरस्त कर दिए हैं. 
यूपी में कृषि यंत्र खरीददारी वेबसाइट हैक. फाइल फोटो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में साइबर ठगों की नजर अब किसानों को कृषि यंत्र में मिलने वाली अनुदान राशी पर भी है. जालसाजों ने उत्तर प्रदेश में किसानों को कृषि यंत्रिन की खरीददारी के लिए 50 से 80 प्रतिशत तक अनुदान दिया जाता है. लेकिन जालसाजों ने बुकिंग पोर्टल हैक कर आवेदन शुरू कर दिए हैं. इस साल उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार किसानों को कृषि यंत्रों में 400 करोड़ रूपये का अनुदान देने जा रही है इससे प्रदेश के 5 हजार किसानों को फायदा मिलने जा रहा है.  

उत्तर प्रदेश कृषि विभाग ने कृषि यंत्रों की खरीददारी को किसानों के लिए 7 अक्टूबर से आवेदन आवेदन शुरू किये थे. यह आवेदन प्रिक्रिया 21 अक्टूबर तक चलनी थी लेकिन इस बीच किसानों को ऑनलाइन आवेदन करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था. इस लिए विभाग ने मंडलवार प्रिर्किया शुरू करा दी. बुधवार को जब गोरखपुर और अयोध्या के किसान आवदेन कर रहे थे तो पोर्टल में कई समस्याएं आ रही थी जिसकी शिकायत विभागीय अधिकारी से की गई. विभागीय अधिकारीयों ने जब पोर्टल की जांच कराई तो चौंकाने वाले खुलासे सामने आये. विभाग के अनुसार आवेदन सुबह 11 बजे से शुरू होता है लेकिन कई ऐसे आवेदन थे जो कि पहले ही किये जा चुके थे.

यूपी के झांसी में भीषण हादसा, ट्रैक्टर पलटने से 11 लोगों की दर्दनाक मौत, कई घायल

अब कृषि विभाग के अधिकारी संभावना जता रहे हैं कि जालसाजों ने पोर्टल को हैक कर यह बुकिंग की है. गड़बड़ी को आशंका को देखते हुए सभी ऑनलाइन आवेदन को कृषि विभाग ने निरस्त कर दिए हैं. कृषि निदेशक विवेक कुमार सिंह ने बताया कि योजना में सभी किसानों को पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर तय लक्ष्य की सीमा तक मौका दिया जाता है. विभाग ने पोर्टल हैक होने की आशंका के चलते मामला साइबर क्राइम को सौंप दिया है. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें