यूपी चुनाव: टिकैत के फार्मर ग्राउंड पर बीजेपी की बैटिंग, प्रदेश के 150 किसानों से मिलेंगे योगी

Smart News Team, Last updated: Wed, 25th Aug 2021, 2:05 PM IST
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश के डेढ़ सौ किसानों से मुलाकात करेंगे. मुख्यमंत्री आवास पर आज शाम 4:00 बजे एक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इस कार्यक्रम के दौरान किसान सरकार की ओर से उठाए गए कदमों के लिए योगी सरकार को धन्यवाद देंगे.
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ.( फाइल फोटो )

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के सरगर्मियों के बीच आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश के डेढ़ सौ किसानों से मुलाकात करेंगे. मुख्यमंत्री आवास पर आज शाम 4:00 बजे एक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इस कार्यक्रम के दौरान किसान सरकार की ओर से उठाए गए कदमों के लिए योगी सरकार को धन्यवाद देंगे. इसके साथ ही किसान अपनी बेहतरी के लिए अपने सुझाव भी सीएम को देंगे. इस दौरान भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष भी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे.

बता दें कि आगामी चुनाव के मध्यनजर यह मुलाकात इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि ऐसा माना जा रहा है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसानों के बीच तीन कृषि कानूनों को लेकर काफी नाराजगी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस संवाद से योगी सरकार और किसानों के बीच बढ़ती खाई को पाटने में मदद मिलेगी. साथ ही किसान आंदोलन के राजनीतिक प्रभाव को कम किया जा सकेगा.

लखनऊ में लगातार जारी प्रशासन फेरबदल, 11 IPS के बाद अब इन अधिकारियों का तबादला

मालूम हो कि राकेश टिकैत के नेतृत्व में कृषि कानूनों के खिलाफ राजधानी दिल्ली की सीमा पर लंबे समय से आंदोलन चल रहा है. चुनाव के बाबत टिकैत पहले ही कह चुके हैं कि वो आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा का बहिष्कार करेंगे. इसलिए माना जा रहा है कि प्रदेश की भाजपा सरकार अब किसानों की नाराजगी को दूर करने की कवायद में जुट गई है.

दरअसल, देश की राजधानी दिल्ली की सीमा पर चला रहा किसानों का आंदोलन पंजाब, हरियाणा के अलावा पश्चिम उत्तर प्रदेश में काफी प्रभाव रखता है. जानकारी के मुताबिक पश्चिम उत्तर प्रदेश में 44 विधानसभा सीटें हैं, जो बीजेपी के लिए चिंता का सबब बनी हुई है. प्रदेश की भाजपा अपने संगठन में मौजूद किसान नेताओं के जरिए किसान आंदोलन का काउंटर रणनीति तैयार करने में लगी है. आज की मुलाकात को इसी रूप में देखा जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें