BJP के साथ सीट शेयरिंग पर बोलीं अनुप्रिया पटेल- मैंने नहीं की 36 सीटों की मांग

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Wed, 19th Jan 2022, 11:53 PM IST
  • भाजपा ने उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 के लिए गठबंधन में शामिल हुए सहयोगी दल, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ उतरने का औपचारिक ऐलान कर दिया. मगर इन दोनों सहयोगी दलों की सीट शेयरिंग को लेकर पेंच फंसा हुआ है. इस पर अपना दल अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने बड़ा बयान दिया है. जानने के लिए देंखे पूरी खबर…
अपना दल अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल

लखनऊ. भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने पार्टी के अपने सहयोगी दलों, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ गठबंधन होने व उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 में एक साथ उतरने का औपचारिक ऐलान कर दिया है. इस दौरान बुधवार को उन्होंने कहा कि यूपी में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन NDA अपने सहयोगियों, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर राज्य की सभी 403 सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ेगी. गठबंधन की घोषणा के वक्त दोनों हीं सहयोगी पार्टीयों के अध्यक्ष, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ मौजूद थे. हालांकि अभी तक अपना दल और निषाद पार्टी के सीट शेयरिंग को लेकर खुलासा नहीं हुआ है.

मीडिया में चल रही भाजपा से 36 विधानसभा सीटों की मांग से जुड़ी खबरों का खंडन करते हुए बुधवार को समाचार एजेंसी ANI से अपना दल पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने कहा कि हम बहुत जल्द अपना दल, बीजेपी और निषाद पार्टी के बीच सीटों के बंटवारे के लिए अंतिम आंकड़े पर पहुंचेंगे. इस दौरान उन्होंने कहा कि मैंने भाजपा से 36 सीटों की कोई मांग नहीं की है. हालांकी पार्टी कमान से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के अंतिम आंकड़े पर बातचीत जारी है. आज ही के एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए अपना दल अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने कहा कि अपना दल बहुत लंबे समय से NDA गठबंधन का हिस्सा है. इस मौके पर उन्होंने कहा कि यूपी को सामाजिक न्याय और विकास दोनों की जरूरत है इसे लेकर अपना दल अध्यक्ष ने NDA गठबंधन को सामाजिक न्याय और विकास पर खरा उतरने की बात कही. केंद्र और यूपी सरकार की ओर से पिछड़े और दलितों के विकास के लिए किए गए कामों को गिनाते हुए अनुप्रिया पटेल ने कहा कि 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने नीट को लेकर फैसला दिया था, लेकिन तत्कालीन सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया. अब मोदी सरकार ने नीट के ऑल इंडिया कोटा में 27 फीसदी ओबीसी आरक्षण देने का फैसला लिया है. दलित मतदाताओं को लुभाने का प्रयास करते हुए उन्होंने कहा कि इस सरकार ने बाबासाहेब आंबेडकर से जुड़े स्थानों को पंचतीर्थ के तौर पर विकसित किया है.

अखिलेश यादव के मौसा का आरोप- मुलायम सिंह घर में कैद, बात करने की इजाजत नहीं

सहयोगी दलों व खुद BJP के उम्मीदवारों का अलग-अलग सीटों का ऐलान करते-करते भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा बीच में ही रुक गए और उन्होंने कहा कि सीटों का बंटवारा जल्द हो जाएगा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूपी की 6 काफी महत्वपूर्ण सीटों पर पेंच फंसा हुआ है. पूर्वांचल की यह छह सीटें किसके खाते में जाएंगी, फिलहाल अभी कुछ भी कहा नहीं जा सकता. पार्टी सूत्रों के अनुसार जल्द ही भाजपा, अपना दल और निषाद पार्टी से इस पर बात करके सीटों का ऐलान करेगी. गौरतलब है कि निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद ने रविवार को दिल्ली में भाजपा के साथ 15 सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया था. इस दौरान उन्होंने दावा था कि दिल्ली में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात के बाद सीटों को लेकर स्थिति को भी साफ कर दिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें