यूपी में आचार संहिता को सख्ती से लागू कराए चुनाव आयोग : बसपा अध्यक्ष मायावती

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Sun, 9th Jan 2022, 5:27 PM IST
  • बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने चुनाव आयोग से अनुरोध करते हुए कहा कि यूपी समेत बाकी चुनावी राज्यों में आचार संहिता का कड़ाई से पालन करना सुनिश्चित कराया जाए. दरअसल पिछले कुछ चुनावों में राजनीतिक पार्टियों द्वारा अपनाए गए रवैए को देखते हुए उन्होंने ये अपील आयोग से की है. 
बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती, फोटो : ANI

लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने चुनाव आयोग से अनुरोध करते हुए कहा कि यूपी समेत बाकी चुनावी राज्यों में आचार संहिता का कड़ाई से पालन करना सुनिश्चित कराया जाए. दरअसल पिछले कुछ चुनावों में राजनीतिक पार्टियों द्वारा अपनाए गए रवैए को देखते हुए उन्होंने ये अपील आयोग से की है.

BSP सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि चुनाव आयोग आचार संहिता का कड़ाई से पालन कराए. क्योंकि पिछले कुछ सालों से चुनावों के दौरान हर प्रकार की धांधली करने व सत्ता और धर्म का चुनावी स्वार्थ के लिए अनुचित इस्तेमाल करने की प्रवृत्ति काफी घातक रूप में बढ़ी है. इसको लेकर पूरा देश भी काफी चिंतित है. इतना ही नहीं बल्कि पिछले कुछ चुनाव में कोरोना के अति प्रकोप में भी जिस प्रकार से रैलियों और रोड शो समेत अन्य के जरिए चुनाव आचार संहिता का खुला उल्लंघन किया गया है उसे देख पूरा देश काफी हैरत में रह गया है.

अखिलेश की सपा बोली- ACS अवनीश अवस्थी BJP कार्यकर्ता, चुनाव आयोग हटाए

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि पिछले कुछ सालों से चुनावों को विशेषकर धार्मिक रंग देकर जिस प्रकार से संकीर्ण राजनीति जारी है उस पर भी चुनाव आयोग को काफी सख्त कदम उठाने की जरूर है.

इन मामलों में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की निष्पक्षता के साथ बिना भेदभाव के कानून के मुताबिक काम कराने को सुनिश्चित करने के लिए भी यह जरूरी है कि सरकारी मशीनरी में भी चुनाव आयोग का कानूनी खौफ जरूर कायम रहे तभी यह चुनाव सही से संपन्न हो पाएंगे. हालांकि इस मामले में बसपा अध्यक्ष ने कहा कि BSP एक अनुशासित पार्टी है व आदर्श चुनाव आचार संहिता को पूरी सख्ती से अमल में लाती है. साथ ही उन्होंने बताया कि वह खुद हमें अपनी पार्टी के सभी स्तर के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को चुनाव आचार संहिता का पालन करने की हिदायत देती रहती है.

बसपा अध्यक्ष ने बताया कि चुनाव को अपने देश में लोकतंत्र का खास त्यौहार माना जाता है. लोकतंत्र में आम जनता को एक व्यक्ति व एक वोट के मताधिकार के जरिए अपनी राय व्यक्त करने एवं सत्ता को जिम्मेदार बनाने का संवैधानिक व लोकतंत्र का हथियार चुनाव ही है. इस प्रकार इसमें किसी भी प्रकार की बाधा व अड़चन डालने की किसी को भी इजाजत नहीं दी जानी चाहिए.

चुनाव आयोग को यह सब जरूर देखना है लेकिन इसके साथ ही उन्होंने ने अपनी पार्टी के लोगों से कहा कि चुनाव में मुख्य चुनाव आयोग ने जो भी चुनाव आचार संहिता लागू की है उसको बहुजन समाज पार्टी पूरी ईमानदारी से पालन करेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें