यूपी में डॉक्टर अय्यूब की पीस पार्टी से ओवैसी-कुशवाहा के भागीदारी परिवर्तन मोर्चा का गठबंधन

Swati Gautam, Last updated: Wed, 16th Feb 2022, 9:05 PM IST
  • एआईएमआईएम के प्रमुख और लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने आज 16 फरवरी को लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस की जिसमें बड़ी घोषणा करते हुए कहा गया कि ओवैसी और बाबू सिंह कुशवाहा के भागीदारी परिवर्तन मौर्चा में अब डॉक्टर अय्यूब की पीस पार्टी ने भी गठबंधन कर लिया है. अब यह दोनों पार्टियां एक दूसरे के उम्मीदवारों को समर्थन करेंगी.
असदुद्दीन ओवैसी और डॉ अय्यूब व बाबू सिंह कुशवाहा की लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए दो चरणों के मतदान के बाद असदुद्दीन ओवैसी और बाबू सिंह कुशवाहा के भागीदारी परिवर्तन मौर्चा में अब डॉक्टर अय्यूब की पीस पार्टी ने भी गठबंधन कर लिया है. लखनऊ में डॉक्टर अय्यूब ने ओवैसी और कुशवाहा के संग प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस गठबंधन की घोषणा की. अब मौर्चे में शामिल सभी पार्टियां एक दूसरे के उम्मीदवारों का समर्थन करेंगी.

बता दें कि ओवैसी कह चुके हैं कि अगर गठबंधन सत्ता में आता है तो 2 मुख्यमंत्री होंगे, एक ओबीसी समुदाय से दूसरा होगा, जबकि दूसरा दलित समुदाय से होगा और तीन मुस्लिम समुदाय के डिप्टी सीएम होंगे. वहीं बाबू सिंह कुशवाहा ने कहा कि सत्ता में आने पर किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा. बहन बेटियों को सुरक्षा दी जाएगी और अल्पसंख्यकों को छात्रवृत्ति दी जाएगी. भाजपा ने प्रदेश के जनता को ठगा है. पुरानी पेंशन व्यवस्था समाजवादी पार्टी ने खत्म किया था, हमारा मोर्चा पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करेगा.

रैली के दौरान पुलिसवालों पर भड़के अखिलेश यादव, कहा- तुमसे ज्यादा बदतमीज कोई नहीं हो सकता

कौन हैं डॉक्टर अय्यूब

डॉक्टर अय्यूब यूपी की पीस पार्टी के अध्यक्ष हैं. इस पार्टी ने साल 2012 के चुनाव में सभी को सरप्राइज करते हुए अच्छा प्रदर्शन किया था और कई सीटों पर जीत हासिल की थी. हालांकि, जीतने के बाद पार्टी के सभी विधायकों ने अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी का हाथ थाम लिया था. साल 2017 में पीस पार्टी का कोई जोर उत्तर प्रदेश की राजनीति में देखने को नहीं मिला लेकिन साल 2022 चुनाव से पहले ही पीस पार्टी ने चुनाव के लिए अपनी तैयारियां शुरू कर दी थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें