CM रहते क्यों नोएडा जाने से डरते थे अखिलेश यादव, खुद कबूल किया अंधविश्वास

Smart News Team, Last updated: Mon, 10th Jan 2022, 10:41 PM IST
  • एक टीवी इंटरव्यू में आखिकार समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव नोएडा को लेकर अपने अंधविश्वास को कबूल कर लिया. उन्होंने बताया कि सीएम रहते हुए वे कभी नोएडा किसी भी लोकार्पण या शिलान्यास में खुद शामिल नहीं हुए.
फोटो- समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आखिरकार नोएडा जाने के डर को स्वीकार कर लिया. मुख्यमंत्री रहते हुए अखिलेश यादव ने नोएडा में मेट्रो से लेकर और भी कईं बड़ी सौगातें दी लेकिन खुद कभी किसी भी शिलान्यास या लोकार्पण के कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए. आखिरकार उन्होंने इसके पीछे का अंधविश्वास कबूल कर लिया है.

इंटरव्यू के दौरान अखिलेश यादव ने साफ कहा कि ऐसा माना जाता है कि जो नोएडा जाता है फिर मुख्यमंत्री नहीं बनता. अखिलेश आगे कहते हैं कि हमारे बाबा भी नोएडा गए थे. वे इस बार मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे. साथ ही इसको अंधविश्वास कहने पर अखिलेश यादव ने कहा कि धर्म भी अंधविश्वास ही होता है.

ओपिनियन पोल: यूपी में फिर योगी सरकार, क्या होगा अखिलेश का हाल, जानिए

वहीं इंटरव्यू में अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर भी जमकर निशाना साधा. अखिलेश यादव ने यूपी की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि महिलाओं पर सबसे ज्यादा अपराध उत्तर प्रदेश में हो रहा है. यूपी में आईपीएस अधिकारी अपराध करने के बाद फरार हैं.

अखिलेश यादव ने कहा कि एनसीआरबी का आंकड़ा देखिए, सबसे ज्यादा दंगे किसकी सरकार में हुए. जीरो टोलरेंस की बात तो होती हैं लेकिन पुलिस कप्तान फरार है और माफिया क्रिकेट खेल रहा है. किसानों को जीप चढ़ाकर मार दिया जा रहा है, ये कानून व्यवस्था है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें