UP चुनाव: BJP MLA का बड़ा बयान, कहा- स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ हूं, सपा ज्वाइन करूंगा

Somya Sri, Last updated: Wed, 12th Jan 2022, 12:01 PM IST
  • यूपी के औरेया से बिधूना सीट से भाजपा विधायक विनय शाक्य की बेटी ने वीडियो जारी कर अपने चाचा पर पिता को जबरन लखनऊ ले जाने का आरोप लगाया था. रिया शाक्य ने पिता के लापता होने का दावा किया था. साथ ही अपहरण की भी बात कही थी. लेकिन विधायक विनय शाक्य ने अपनी बेटी के दाव का खंडन करते हुए कहा कि मैं स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ हूं और सपा जॉइन करूंगा.
UP चुनाव: BJP MLA का बड़ा बयान, कहा- स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ हूं, सपा ज्वाइन करूंगा.

लखनऊ: यूपी के औरैया के बिधूना विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक ने अपनी बेटी रिया शाक्य के सभी दावों का खंडन किया है. जबकि उनका कहना है कि वे स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ हूं और सपा जॉइन करेंगे. मालूम हो कि बेटी रिया ने अपने चाचा देवेश शाक्य पर जबरन पिता को लखनऊ ले जाने का आरोप लगाया था. इस वीडियो को ट्वीट करने के बाद उन्होंने यूपी सरकार से अपने पिता की सुरक्षा की मांग की थी. रिया शाक्य ने पिता के लापता होने का दावा किया था. साथ ही अपहरण की भी बात कही थी. लेकिन पिता ने कहा कि उनका कोई अपहरण नहीं हुआ है. जबकि वे इटावा में हैं. 

वहीं बेटी रिया ने एक वीडियो ट्वीट कर कहा था, " पैरालिसिस अटैक के कारण उसके पिता बेड रेस्ट पर हैं. चलने फिरने और बोलने में असमर्थ हैं. मेरे चाचा देवेश शाक्य पिता को जबरन लखनऊ ले गए हैं. सपा में शामिल करने के लिए उन्होंने अपहरण किया है."बेटी ने कहा था कि हम भाजपाई हैं, पार्टी के साथ खड़े हैं. रिया ने वीडियो में कहा था कि चाचा मेरा भी अपहरण करने का प्रयास कर रहे हैं. 

UP चुनाव को लेकर रामदास आठवले बोले- BJP गठबंधन करे नहीं तो अकेले लड़ेंगे इलेक्शन

जबकि रिया के चाचा देवेश शाक्य का कहना है कि उनके भाई बेटी के साथ नहीं अपनी मां के साथ रहते हैं. यह सब दूसरे लोग करवा रहे हैं. भाई के साथ वह जबरदस्ती नहीं करने देंगे. यदि वह स्वेच्छा से राजी हों तो ले जाएं. वरना मेरे खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दें. बता दें कि विनय शाक्य बिधूना विधानसभा क्षेत्र से दो बार विधायक रह चूंके हैं.

यूपी विधानसभा चुनाव में रेप पीड़िताओं को टिकट देगी कांग्रेस- प्रियंका गांधी

बता दें कि मंगलवार को यूपी सरकार में श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया. उनके इस्तीफा से बीजेपी को तगड़ा झटका लगा है. कहा जा रहा है कि कुछ और नेता भी बीजेपी का दामन छोड़ सकते हैं. वहीं यूपी चुनाव से पहले मौर्य के बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए हैं. स्वामी प्रसाद मौर्य 2017 विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी में आए थे. इससे पहले वे बसपा की मायावती सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं. मंगलवार को स्वामी प्रसाद मौर्य ने ट्वीट कर यूपी कैबिनेट से इस्तीफे की जानकारी दी थी. खबर है कि वे आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर बीजेपी नेताओं से नाराज चल रहे थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें