UP चुनाव: कांग्रेस का अखिलेश को वॉकओवर, करहल से रुकवाया घोषित प्रत्याशी का नामांकन

Swati Gautam, Last updated: Tue, 1st Feb 2022, 7:51 PM IST
  • उत्तर प्रदेश चुनाव में हॉटसीट मानी जाने वाली मैनपुरी की करहल सीट पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के खिलाफ कांग्रेस हाईकमान ने अपने प्रत्याशी को नामांकन नहीं करने दिया है. कांग्रेस की ओर से अखिलेश को दिए वॉकओवर के बाद कांग्रेसी खेमा भी हैरान है.
अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी (फाइल फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के चलते सियासी माहौल गरमाया हुआ है. इन चुनाव में मैनपुरी जिले की हॉटसीट बन चुकी करहल से एक बड़ी खबर सामने आ रही है कि कांग्रेस की ओर से अखिलेश को वॉकओवर दे दिया गया है. बता दें कि करहल से समाजवादी पार्टी प्रत्याशी पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश के चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद कांग्रेस हाईकमान ने इस सीट खिलाफ उतारे गए प्रत्याशी को नामांकन करने से रोक दिया है. कांग्रेस के इस वॉकओवर के बाद राजनीतिक गलियारों में हंगामा मच गया है. कांग्रेसी खेमा भी इस वॉकओवर से हैरान है. अब कांग्रेस जनपद की सिर्फ तीन सीटों पर ही चुनाव लड़ेगी.

बता दें कि कांग्रेस ने पहली सूची जारी कर करहल विधानसभा क्षेत्र से ज्ञानवती यादव, मैनपुरी सदर विधानसभा क्षेत्र से जिलाध्यक्ष विनीता शाक्य को प्रत्याशी, किशनी से विजय नारायन और भोगांव से ममता राजपूत को घोषित किया था. करहल से ज्ञानवती को टिकट दिए जाने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध जताकर प्रदर्शन भी किया था. जिसके बाद 25 जनवरी को नामांकन प्रक्रिया शुरू की गई थी जिसमें करहल से कांग्रेस की घोषित प्रत्याशी ज्ञानमती ने अपना नामांकन दाखिल नहीं किया. कांग्रेस के फैसले से कांग्रेसीजन भी हैरान रह गए हैं.

UP चुनाव: सपा की 10 कैंडिडेट की लिस्ट जारी, लखनऊ की 6 सीटों पर प्रत्याशी घोषित

कांग्रेस हाईकमान के करहल से कांग्रेस प्रत्याशी के नामांकन रुकवाने के बाद अब कांग्रेस जनपद की सिर्फ तीन सीटों पर ही चुनाव लड़ेगी. वहीं, अखिलेश यादव ने करहल सीट से चुनाव लड़ने की घोषणा की और नामांकन भी कर दिया. बता दें कि जसवंतनगर सीट से भी कांग्रेस अपने प्रत्याशी चुनाव नहीं लड़ा रही है. जिलाध्यक्ष गोपाल कुलश्रेष्ठ ने जानकारी देते हुए बताया कि पार्टी नेतृत्व ने नामांकन न कराने के निर्देश दिए थे, जिसके चलते नामांकन नहीं हुआ है. वहीं, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव प्रकाश प्रधान ने भी बताया कि सपा ने भी रायबरेली और अमेठी में कांग्रेस के सामने अपने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें