यूपी चुनावः जेल से ही लड़ेंगे आजम खां, सपा ने रामपुर से दिया टिकट, स्वार से बेटे अब्दुल्ला को उतारा

Sumit Rajak, Last updated: Wed, 19th Jan 2022, 7:10 AM IST
  • रामपुर से सांसद आजम खां एक बार फिर सपा के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. इसके साथ ही उनके बेटे अब्दुल्लाह आजम भी सपा से चुनाव लड़ेंगे. अब्दुल्लाह आजम ने मंगलवार को सपा मुख्यालय में अखिलेश यादव के साथ प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद थे. आजम खां काफी समय से सीतापुर जेल में हैं और माना जा रहा कि जल्द वह जमानत पर रिहा नहीं हुए तो वह जेल से ही चुनाव लड़ेंगे. वह अपनी पुरानी सीट रामपुर शहर से नौ बार जीत चुके हैं और अगर अब वह जीतते हैं तो यह रिकार्ड होगा.
फाइल फोटो

लखनऊ.समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान भी आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. सूत्रों के हवाले से मिल रही खबर के अनुसार, सीतापुर जेल में बंद आजम खान रामपुर शहर से चुनाव लड़ेंगे. इस सीट से बीजेपी ने आकाश सक्सेना को मैदान में उतारा है, आजम खां फिलहाल सीतापुर जेल में बंद हैं.  सूत्र यह भी बता रहे हैं कि पिछले दिनों जेल से छूट कर आए आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम भी समाजवादी पार्टी के टिकट पर स्वार सीट से चुनाव लड़ेंगे.

अब्दुल्लाह आजम ने मंगलवार को सपा मुख्यालय में अखिलेश यादव के साथ प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद थे. आजम खां काफी समय से सीतापुर जेल में हैं और माना जा रहा कि जल्द वह जमानत पर रिहा नहीं हुए तो वह जेल से ही चुनाव लड़ेंगे. वह अपनी पुरानी सीट रामपुर शहर से नौ बार जीत चुके हैं और अगर अब वह जीतते हैं तो यह रिकार्ड होग.उधर अब्दुल्लाह आजम जमानत पर जेल से बाहर आकर सक्रिय हो गए हैं. 

अखिलेश से 14 मंत्री-विधायकों का BJP लेगी बदला, मुलायम की बहू अपर्णा भाजपा जा रही हैं

मंगलवार को ही अब्दुल्ला आजम ने अखिलेश यादव से मुलकात की थी. मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा था कि पार्टी जो कहेगी उसे मानूंगा. बता दें कि अब्दुल्ला आजम 2017 में स्वार सीट से सपा के टिकट पर जीत हासिल की थी. लेकिन बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने उनकी जन्मतिथि पर सवाल उठाते हुए मुकदमा किया था. फर्जी प्रमाणपत्र के मामले में हाईकोर्ट ने उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी थी. वहीं, आजम खां और उनके बेटे के चुनाव लड़ने पर बीजेपी ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा है. बीजेपी प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने कहा कि समाजवादी पार्टी उन्हीं लोगों को टिकट दे रही है जो जेल में बंद हैं या फिर बेल पर बाहर हैं. उन्होंने कहा कि जिन्हें योगी सरकार ने जेल में डाला उन्हें टिकट देकर समाजवादी पार्टी यह साबित कर दिया है कि वे गुंडों और दंगाइयों के साथ है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें