लखनऊ: एलटी ग्रेड के 3317 शिक्षकों को ऑनलाइन मिले नियुक्ति पत्र

Smart News Team, Last updated: Fri, 23rd Oct 2020, 7:59 PM IST
  • एलटी ग्रेड के नए चयनित 3317 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं, तकनीकी की मदद से नियुक्ति पत्रों का वितरण ऑनलाइन माध्यम से आसानी से किया जा रहा है.
एलटी ग्रेड के 3317 शिक्षकों को ऑनलाइन मिले नियुक्ति पत्र (फाइल फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में नए चयनित शिक्षकों को नियुक्ति पत्र देना शुरू कर दिया है. 3317 शिक्षकों को एलटी ग्रेड पर नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आमंत्रित 5 शिक्षकों को प्रतीकात्मक नियुक्ति पत्र प्रदान किए. इन 5 शिक्षकों के अलावा बचे सभी शिक्षकों को नियुक्ति पत्र ऑनलाइन माध्यम से दिए जा रहे हैं. सभी शिक्षकों को स्कूल का आवंटन शिक्षकों की मेरिट लिस्ट और उनके द्वारा चयन किए गए विकल्प के आधार पर किया गया है. साथ ही दिव्यांगों को उनकी वरीयता के अनुसार स्कूल आवंटित की गई है.

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ तीन लाख से अधिक सरकारी नौकरियां पिछले साढ़े तीन वर्षों में दी है. साथ ही कहा कि कोरोना काल में तकनीकी की मदद से एक क्लिक में ऑनलाइन शिक्षा और गरीबों के साथ बुजुर्गों के खातों में राहत राशि पहुंचाई गई. फिलहाल चयन प्रक्रिया में भी इसका लाभ हमें मिल रहा है. शिक्षकों को प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री ने शिक्षक को समाज का मार्गदर्शक बताते हुए चयनित युवाओं को इसे सिद्ध करने को कहा और समाज की व्यवस्था में परिवर्तन लाने की बात की. उन्होंने ऑपरेशन कायाकल्प योजना से स्कूलों को पहुंचाई जा रही बुनियादी सेवाओं के बारे में भी बताया.

सहायक शिक्षक नियुक्तियों में गड़बड़ी करने वालों की एकमात्र जगह जेल: CM योगी

नवनियुक्त शिक्षकों का चयन उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा देने के बाद हुआ था. इसके तहत सहायक अध्यापक के पद पर 28 सितंबर से 8 अक्टूबर के मध्य चयनित अभ्यर्थियों से ऑनलाइन विकल्प मांगे गए थे. स्कूल आवंटन में उन सभी चयनित अभ्यर्थियों को वरीयता दी गई जो दिव्यांग श्रेणी में आते हैं, जिनका बच्चा 40 फ़ीसदी दिव्यांग है ऐसी महिला अभ्यर्थी, वे अभ्यर्थी जिनके पति या पत्नी सेना में है इसके साथ ही वे जो एकल अभिभावक है और विधुर व विधवा अभ्यर्थी जिन्होंने दूसरा विवाह नहीं किया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें