UP 69 हजार शिक्षक भर्तीः लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में अभ्यार्थियों को दिए नियुक्ति पत्र

Smart News Team, Last updated: 16/10/2020 07:51 PM IST
  • 31 हजार 227 शिक्षकों के नियुक्ति पत्र में प्रदेश भर में कार्यक्रम हो रहे हैं. लखनऊ और उन्नाव के शिक्षकों को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में नियुक्ति पत्र दिए गए. 
लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान भवन में लखनऊ और उन्नाव के शिक्षकों को नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं.

लखनऊ. 69 हजार शिक्षकों की भर्ती में से 31 हजार 227 अभ्यर्थियों को शुक्रवार को नियुक्ति पत्र देने की प्रक्रिया शुरू हो गई. प्रदेश के कई जिलों में अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं. लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में भी अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिए गए. इस कार्यक्रम में लखनऊ के 150 और उन्नाव के 950 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं।

लखनऊ और उन्नाव के शिक्षकों को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में नियुक्ति पत्र दिए गए. इस मौके पर नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन गोपाल, सांसद कौशल किशोर, विधायक नीरज बोरा और जयदेवी इस कार्यक्रम में मौजूद रहे. आपको बता दें कि प्रदेश के 68 जिलों में अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं.

 

इस कार्यक्रम में योगी आदित्नाथ की वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए मौजूद रहे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीएम आवास पर 5 अभ्यर्थियों को नियुक्त पत्र देकर इसकी शुरूआत की. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, मेरे लिए ये खुशी का विषय है कि 6,675 शिक्षामित्रों को नियुक्ति पत्र मिल रहा है. यह उनकी मेहनत का फल है. उन्होंने ट्वीट करते हुए इस कार्यक्रम की जानकारी दी. मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि हमने 69 हजार शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया है. जिस तरीके से ये कार्य किया गया है वो अपने आप में एक उपलब्धि है.

UP 69 हजार शिक्षक भर्ती: 31227 अभ्यार्थियों को नियुक्ति पत्र मिलने शुरू, CM योगी ने दी बधाई

आपको बता दें कि कोर्ट के आदेश के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 31 हजार 661 शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया को पूरा करने का आदेश दिया था. जिसके बाद बेसिक शिक्षा परिषद ने सोमवार को 31 हजार 227 अभ्यर्थियों की सूची जारी की थी. जिसके बाद प्रदेश के सभी जिलों में काउंसिलिंग हुई. अब अभ्यर्थियों को नियुक्त पत्र दिए जा रहे हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें