यूपी में प्राइवेट लैब कोरोना टेस्ट रेट 1600 फिक्स, ज्यादा मांगे तो सरकारी एक्शन

Smart News Team, Last updated: Thu, 10th Sep 2020, 8:06 PM IST
  • प्रदेश की योगी सरकार ने आज प्राइवेट लैब के लिए कोरोना जांच के लिए शुल्क का निर्धारण कर दिया है. सरकार द्वारा निर्धारित शुल्क से अधिक शुल्क वसूल करने पर लैब के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी.
कोरोना संक्रमण जांच 

लखनऊ: राजधानी में आज स्वास्थ्य विभाग ने  राज्य के निजी प्रयोगशालाओं के लिए कोरोना मरीजों की जांच के शुल्क को निर्धारित कर दिया है. अब निजी क्षेत्र की प्रयोगशालाओं में 1600 रुपए में कोरोना संक्रमण की जांच होगी. यही नही नियम का उल्घंघन करने वालों पर कोविड-19 नियमावली 2020 के तहत कार्रवाई की जाएगी.

जानकारी के मुताबिक  उत्तर प्रदेश सरकार ने प्राइवेट लैब में कोरोना संक्रमण की  जांच के लिए लगने वाले शुल्क कम किया है. आपको बता दें कि इससे पहले प्रदेश सरकार ने  कोरोना संक्रमण की  RTPCR जांच के लिए 2500 रुपए निर्धारित किए थे.

यूपी: भ्रष्टाचार मामले में सस्पेंड दो IPS की प्रॉपर्टी की होगी विजलेंस जांच

गौरतलब है कि अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने आदेश जारी कर इसकी जानकरी दी. सरकार द्वारा जारी आदेश में स्पष्ट रुप से लिखा है कि आरटी- पीसीआर टेस्ट किट के मूल्य में गिरावट आई है जिस कारण अब  निजी क्षेत्र की प्रयोगशालाओं में कोरोना जांच के लिए जाने वाले शुल्क  की अधिकतम धनराशि 1600 रुपए निर्धारित किया जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें