मानव तस्करी पर यूपी सरकार सख्त, एण्टी ह्यूमन ट्रैफकिंग यूनिट्स को थाने का दर्जा

Smart News Team, Last updated: Wed, 21st Oct 2020, 7:27 AM IST
  • यूपी सरकार ने मानव तस्करी पर नकेल कसने के लिए 40 एएचटी यूनिट्स को थाने का दर्जा दिया है. 
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने मानव तस्करी रोकने के लिए सरकारी इकाइयों को थाने का दर्जा दिया है. इस बारे में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने मंगलवार को शासनादेश जारी कर जानकारी दी. इस शासनादेश के अनुसार प्रदेश के 40 जिलों में गठित एण्टी हूयूमन ट्रैफकिंग यूनिट्स (एएचटीयू) को थाने के रूप में अधिसूचित किया गया है. साथ ही इसके लिए वित्तीय सहायता दी गई है.

जानकारी के मुताबिक यूपी सरकार ने प्रदेश में मानव तस्करी पर रोग लगाने के लिए यूनिट गठित की है. इसके तहत मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, आगरा, झांसी, मुरादाबाद, लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, बरेली और महाराजगंज का मिलाकर एक यूनिट बनाई गई है. इसके लिए 90.96 लाख रुपये की वित्तीय सहायता मंजूर की गई है. वहीं कानपुर नगर, गोरखपुर, बिजनौर, जौनपुर, आजमगढ़, फिरोजाबाद, पीलीभीत, सीतापुर, बलिया, बागपत और शाहजहांपुर को मिलाकर एक यूनिट बनाई गई है. इसके लिए भी 90.96 लाख रुपये की वित्तीय सहायता स्वीकृत की गई है. एक अन्य यूनिट मुजफ्फरनगर, कुशीनगर, बाराबंकी, लखीमपुरखीरी, बहराइच, बलरामपुर, बदायूं, सिद्धार्थनगर, उन्नाव, हरदोई को मिलाकर बनी है. इसे 83.38 लाख रूपये स्वीकूत हुए हैं.

यूपी: 2 करोड़ गरीब परिवारों की सेहत की चिंता दूर, सरकारी योजनाओं का मिलेगा फायदा

इसके साथ ही प्रदेश के अन्य जिलों जैसे रायबरेली, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अम्बेडकरनगर, हापुड़, बुलंदशहर, सहारनपुर, शामली, बांदा, चित्रकूट, कौशाम्बी, फतेहपुर, प्रतापगढ़, मथुरा, अलीगढ़, हाथरस, एटा, मैनपुरी, फतेहगढ़, देवरिया, संतकबीरनगर, गोण्डा, गाजीपुर, गाजीपुर, चंदौली, संत रविदास नगर, मिर्जापुर, सोनभद्र, अमरोहा, संभल, रामपुर, कासगंज, कानपुर देहात, कन्नौज, इटावा, औरय्या, हमीरपुर, महोबा, ललितपुर और जालौन में भी ऐसी ही इकाइयां बनाई गई हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें