व्यवसायिक कंपनियों के लिए बड़ा कदम, UP 112 के साथ आई प्राइवेट सुरक्षा एजेंसियों

Nawab Ali, Last updated: Wed, 10th Nov 2021, 9:16 AM IST
  • उत्तर प्रदेश गृह विभाग ने लिंक प्रोजेक्ट की शुरुआत कर दी है जिसमें पुलिस के साथ अब प्राइवेट एजेंसियों के गार्ड भी आपातकालीन स्थिति में मदद के लिए नजर आयेंगे. 
यूपी 112 के साथ नजर आएंगे प्राइवेट एजेंसियों के सुरक्षा गार्ड. फाइल फोटो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार ने लिंक प्रोजेक्ट की शुरुआत की है जिसमें अब पुलिस के साथ प्राइवेट सुरक्षा एजेंसियों के गार्ड भी नजर आएंगे. व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में में अगर कोई तोड़-फोड़ या झगड़ा होता है तो यूपी पुलिस के साथ अब प्राइवेट एजेंसियों के गार्ड भी मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभालते नजर आएंगे. उत्तर प्रदेश शासन ने प्राइवेट सुरक्षा एजेंसियों को यूपी-112 के साथ संबद्ध किया है. अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया है कि लिंक प्रोजेक्ट के तहत व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को आपातकालीन परिस्थितियों में कम समय के अन्दर ही पुलिस को चिकित्सा, फिरे सर्विस समेत कई स्थितियों में सहायता मिल सकेगी.

उत्तर प्रदेश शासन पुलिस पर बढ़ते बोझ को कम करने की तैयारियों में जुटा हुआ है. सरकार ने 112 के साथ लिंक प्रोजेक्ट की शुरुआत कर दी है. यूपी में शासन ने 112 के साथ जुलाई 2020 में पांच प्राइवेट एजेंसियों के साथ पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत की थी. लेकिन इस प्रोजेत के तहत अच्छे परिणाम मिलने पर शासन ने पूर्ण तरीके से शुरुआत करने की जुगत शुरू कर दी है. इसके लिए शासन स्तर से प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाते हुए एजेंसियों की 9636 साईट्स की लोकेशन को यूपी 112 के साथ इन्टीग्रेट किया गया है. यूपी 112 की वेबसाइट पर लिंक 112 पंजीकरण के माध्यम से अब तक 684 पंजीकरण किये जा चुके हैं जिनमें से 17 पंजीकरण प्राईवेट सिक्योरिटी एजेंसी ने किये गये हैं. 

राकेश टिकैत का दावा, ताबूत में आखिरी कील साबित होगी लखनऊ महापंचायत

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी का कहना है कि इस प्रोजेक्ट के तहत किसी भी प्रतिष्ठान में मारपीट, विवाद, या गाली-गलौज होने पर कम समय में सहायता उपलब्ध हो पायेगी. जिससे कि 112 में कॉल करने के बाद लगने वाले समय से पहले ही सहायता पहुंच जायगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें