जयपुर में 24 दिसम्बर से होने वाले प्रीमियर हैंडबॉल लीग में खेलेगी यूपी आइकॉन

Smart News Team, Last updated: 06/12/2020 02:17 PM IST
  • 24 दिसंबर से जयपुर में शुरु होगा प्रीमियर हैंडबॉल लीग, 6 टीम ले रही है हिस्सा, 80 से अधिक खिलाड़ी होंगे शामिल, 10 जनवरी तक चलेगा कार्यक्रम, 18 दिन के कार्यक्रम में 30 मैच खेले जाएंगे.
जयपुर में 24 दिसम्बर से शुरू होने वाले प्रीमियर हैंडबॉल लीग में खेलेगी यूपी आइकॉन

लखनऊ: देश में पहली बार जयपुर में 24 दिसंबर शुरू होने जा रही प्रीमियर हैण्डबाल लीग में उत्तर प्रदेश की टीम ‘यूपी ऑइकॉन’ भी खेलेगी. इस टीम के मालिक राजधानी लखनऊ के ही हैं. भारतीय हैण्डबाल महासंघ ने लीग के कार्यक्रम की जयपुर में शुक्रवार को घोषणा की. यह लीग 10 जनवरी तक चलेगी.लीग में के पहले सीजन में छह टीमें हिस्सा ले रही हैं. इनमें तेलंगाना टाइगर्स, यूपी आइकन, महाराष्ट्र हैंडबॉल हसलर्स, किंगहॉक्स राजस्थान, बंगाल ब्लूज़ और पंजाब पिटबुल शामिल हैं. इन टीमों की तरफ से 80 से अधिक खिलाड़ी भाग लेंगे और प्रत्येक टीम में 14 खिलाड़ी होंगे.

यूपी की टीम में प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की भरमार होगी ।

लीग में लखनऊ केंद्रित यूपी ऑइकॉन खेलेगी. इस टीम की फ्रैंचाइजी राजधानी के आइकॉनिक ओलंपिक गेम्स अकादमी के सैयद रफत स्पोर्ट्स प्रमोटर विनय सिंह ने संयुक्त रूप से ली है. सैयद रफत ने बताया कि टीम लगभग तैयार है. इसमें लखनऊ के भी कई खिलाड़ी होंगे। टीम युवा खिलाड़ियों से सजी होगी.

लखनऊ: यूपी कैडर के 54 आईपीएस अधिकारियों को नए साल में मिलेगा प्रमोशन का तोहफा

भारतीय हैण्डबाल महासंघ के मौजूदा उपाध्यक्ष (प्रशासन) डा. आनंदेश्वर पाण्डेय ने कहा कि जयपुर में जयपुर में जो सुविधाएं मौजूद है. उसके साथ वह एक बेहतरीन मेजबान साबित होगा. लीग 18 दिनों तक चेलेगी. पुरुषों के इस मेगा इवेंट में 30 लीग मैच खेले जाएंगे. इसके बाद तीन नॉकआउट गेम होंगे. पीएचएल के आयोजन से विश्व रैकिंग में 32वें स्थान पर काबिज भारतीय टीम को नई प्रतिभाओं के साथ नई प्रेरणा मिलेगी. भारत में हैण्डबाल खेलने वाले 80000 खिलाड़ी पंजीकृत हैं यह भारत में खेल की उपस्थिति को देखते हुए एक बहुत बड़ी संख्या है. हैंडबॉल एक ओलंपिक खेल है और प्रतिभा तथा अवसरों के संदर्भ में अंतर्राष्ट्रीय महासंघ भारत को एक बड़ी संभावना के रूप में देखता है.

योगी के मंत्रिमण्डल में होगा विस्तार, 6 से 7 नए होंगे शामिल कुछ की होगी विदाई

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें