लखीमपुर खीरी: योगी सरकार का ऐलान- मृतक किसानों को 45 लाख और घायलों को 10 लाख मुआवजा

Somya Sri, Last updated: Mon, 4th Oct 2021, 8:29 PM IST
  • यूपी के लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानों के साथ हुई हिंसा पर किसानों और सरकार के बीच समझौता हुआ है. इसमें मृतक किसानों को 45 लाख रुपए मुआवजा राशि के तौर पर सरकार की ओर से दी जाएगी. वहीं घायलों को 10 लाख रुपए मिलेंगे. बताया जा रहा है कि इस पूरी घटना पर मामले की न्यायिक जांच भी होगी. वहीं मृतक किसान के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी ऐसी खबर है.
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ: यूपी के लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानों के साथ हुई हिंसा पर किसानों और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार के बीच आज समझौता हुआ है. इसमें मृतक किसानों को 45 लाख रुपए मुआवजा राशि के तौर पर सरकार की ओर से दी जाएगी. वहीं घायलों को 10 लाख रुपए मिलेंगे. बताया जा रहा है कि इस पूरी घटना पर मामले की न्यायिक जांच भी होगी. लखीमपुर खीरी में मरे सारे लोगों के परिजनों को 45 लाख मुआवजा और एक आश्रित को सरकारी नौकरी मिलेगी. सरकार की तरफ से मुआवजा राशि और एक आश्रित को सरकारी सभी को मिलेगी फिर चाहे किसान की मौत हुई हो या उग्र भीड़ के हाथों पिटाई में मारे गए लोग हों. 

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज सुबह बड़ी बैठक बुलाई है. बैठक में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना मौजूद हैं. इस बैठक में उत्तर प्रदेश सरकार के कई आला अधिकारी भी मौजूद हैं. बैठक में लखीमपुर खीरी में हुई घटना समेत कई विभिन्न बिंदुओं पर सीएम योगी आदित्यनाथ चर्चा कर रहे हैं. इस बीच ये खबर सामने आ रही है कि किसानों और यूपी की योगी सरकार के बीच हिंसा को लेकर समझौता हुआ है. समझौता के तहत मृतक किसानों को 45 लाख रुपए मुआवजा राशि के तौर पर दी जाएगी. वहीं घायलों को 10 लाख रुपए मिलेंगे. वहीं मामले की न्यायिक जांच की भी बात सामने आ रही है. समझौता के तहत मृतक किसान के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी.

लखीमपुर खीरी: लखनऊ में CM योगी की हाईलेवल मीटिंग, डिप्टी CM केशव मौर्य, दिनेश शर्मा भी मौजूद

मालुम हो कि रविवार यानी कल यूपी के लखीमपुर खीरी में किसानों और बीजेपी नेताओं के बीच झड़प की खबर सामने आई थी. यह बवाल केन्द्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के गांव में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम से पहले हुआ था. दरअसल केशव प्रसाद मौर्या को काले झंडे दिखाने के लिए किसान खड़े थे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इसी दौरान भाजपा नेताओं के काफिले की गाड़ियों ने उन्हें कुचल दिया. इसके बाद मौके पर काफी बवाल हो गया और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या बीच रास्ते से लौट गए थे. इस हादसे में कुछ किसानों की मौके पर ही मौत हो गयी थी. इसके बाद गुस्साएं किसानों ने मौके पर मौजूद कई गाड़ियों में आग लगा दी थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें