लखनऊ की देविशी ने डिजाइन किया मिट्टी का फ्रिज, पीपुल्स पुरस्कार से हुई सम्मानित

Smart News Team, Last updated: Thu, 8th Jul 2021, 9:57 PM IST
लखनऊ की देविशी कपूर ने पेरु के लोगों के लिए मिट्टी का फ्रिज डिजाइन किया है जिसका नाम उन्होंने ‘काजा फ्रिया’ रखा है. देविशि का डिजायन किए हुए मिट्टी फ्रिज को इंजीनियर्स विदआउट बार्डर की तरफ से कराई गई एक प्रतियोगिता में पहला स्थान मिला. साथ ही पीपुल्स पुरस्कार भी मिला.
नाटिंघम में पढ़ाई कर रही देविशी कपूर को बिजली के मिट्टी के फ्रीज के आविष्कार के लिए पीपुल्स पुरस्कार मिला.

अनंत मिश्र, लखनऊ. नाटिंघम में पढ़ाई कर रही देविशी कपूर ने बिना बिजली के मिट्टी के फ्रिज का अविष्कार किया जिसके बाद वे सुर्खियों में आ गईं. बता दें कि देविशि द्वारा डिजाईन किए हुए मिट्टी के फ्रिज नाम ‘काजा फ्रिया’ को इंजीनियर्स विदआउट बार्डर की तरफ से कराई गई एक प्रतियोगिता में पहला स्थान मिला. इतना ही नहीं देविशी को इस अविष्कार के लिए पीपुल्स पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया. मिट्टी के इस फ्रिज से अब गरीबी में जी रहे पेरू के लोग ठण्डा-ठण्डा पानी पी सकेंगे. बता दें कि यह प्रतियोगिता अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका और यूनाइटेड किंगडम में आयोजित की गई थी.

देविशी बताती हैं कि कुछ समय पहले उन्हें पता चला कि इंजीनियर विदआउट बार्डर एक प्रतियोगिता करा रहे हैं. जिसमें पेरू के गरीब लोगों के लिए ऐसा कोई उत्पाद तैयार करना था जो उनके काम आ सके. जिसके बाद देवीशी ने पेरु के लोगों के बारे में रिसर्च करनी शुरू की जिसमें पता चला कि वह इलाका बेहद गर्म और वहां के लोग काफी गरीब हैं. बिजली की सुविधा भी नहीं है ऐसे में देविशी के दिमाग में सबसे पहले मिट्टी का फ्रिज तैयार करने का आइडिया आया जो उन लोगों के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा. देविशी ने बताया कि इस फ्रिज को बनाने में 70-72 पाउण्ड यानी करीब 7000 रुपये का खर्च आया. खास बात यह है कि इसे पेरू के लोग घर पर भी बना सकते हैं. पेरू में आसानी से मिट्टी मिल जाती है. वहां के लोग भी घड़े और मिट्टी के बर्तन बनाते हैं.

लखनऊ में बनेंगे दो नए बिजली उपकेंद्र, बिजली व्यवस्था सुधारने पर जोर

 

देविशि का डिजायन किए हुए टेरोकोटा मिट्टी फ्रिज नाम ‘काजा फ्रिया’ को इंजीनियर्स विदआउट बार्डर की तरफ से कराई गई एक प्रतियोगिता में पहला स्थान मिला.

 

अलीगंज में रहने वाली देविशी कपूर के पिता समीर कपूर टीसीएस में अधिकारी हैं. देविशी ने ला मार्टिनियर गर्ल्स कॉलेज से 2019 में 12वीं पास की है. जिसके बाद अब वे नाटिंघटम में प्रोडक्ट डिजायन में बीएससी कर रही हैं. देविशी ने अपने मिट्टी के फ्रिज को स्पेनिश नाम ‘काजा फ्रिया’ यानी कूल बॉक्स दिया है. देविशी ने बताया कि यह दो मंजिला फ्रिज है जिसमें दो दीवारे हैं. दोनों दीवारों के बीच पानी भरा जाता है. इसकी बाहरी दीवार मिट्टी के घड़े की तरह काम करती है. भीतरी दीवार अंदर ठण्डक रखने का काम करती है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें