लखनऊ मेट्रो का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज, सबसे तेज मेट्रो स्टेशन निर्माण का बनाया रिकॉर्ड

Smart News Team, Last updated: Mon, 16th Aug 2021, 5:51 PM IST
  • उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने अपने नाम एक और नई उपलब्धि दर्ज कर ली है. उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया है.
लखनऊ मेट्रो का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज, सबसे तेज मेट्रो स्टेशन निर्माण का बनाया रिकॉर्ड (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने अपने नाम एक और नई उपलब्धि दर्ज कर ली है. उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया है. यूपीएमआरसी के लखनऊ मेट्रो परियोजना के तहत चौधरी चरण सिंह यानी सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन बनाया जा रहा था. ये मेट्रो स्टेशन अब तक के सबसे तेजी से निर्मित होने वाले स्टेशन के तौर पर लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हुआ है.

जानकारी के मुताबिक सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन 19 महीने और 10 दिन में तैयार हुआ है. इसे 13 जुलाई 2017 से बनाया जा रहा था. 22 फरवरी 2019 को इसका निर्माण कार्य समाप्त हो गया. मालूम हो कि ये मेट्रो स्टेशन, लखनऊ मेट्रो परियोजना के उत्तर दक्षिण कॉरिडोर के चार भूमिगत मेट्रो स्टेशनों में से एक है. यह स्टेशन 22.878 किलोमीटर लंबा है. जहां यात्रियों को लखनऊ के नेशनल और इंटरनेशनल एयरपोर्ट से सीधी कनेक्टिविटी मिलेगी.

CM योगी का आदेश- यूपी में 23 अगस्त से क्लास 6 से 8 और एक सितंबर से खुलेंगे प्राइमरी स्कूल

उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड के साथ-साथ लखनऊ मेट्रो परियोजना ने भी एक नई उपलब्धि हासिल की है. लखनऊ मेट्रो परियोजना ने देश में अब तक की सबसे तेज गति के साथ निर्मित होने वाली मेट्रो परियोजना का दर्जा हासिल किया है. जिसमें 22.87 किलोमीटर की पूरी खंड को 4.5 साल से भी कम समय में पूरा किया गया है. मालूम हो कि सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन, लखनऊ मेट्रो परियोजना के अंतर्गत बनाया गया था. जिसे 8 मार्च 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में मुंशीपुलिया तक हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया था. इस स्टेशन से 2017 से लेकर अबतक 3:25 करोड़ से ज्यादा यात्री सफर कर चुके हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें