यूपी MLC चुनाव: लखनऊ में 23 प्रत्याशियों का मतगणना स्थल पर हंगामा, धरने पर बैठे

Smart News Team, Last updated: 04/12/2020 01:25 PM IST
  • यूपी विधान परिषद चुनाव की 11 सीटों पर काउंटिंग जारी है. लखनऊ स्नातक खंड चुनाव के मतगणना के दाैरान जमकर हंगामा हुआ. 24 में से 23 प्रत्याशियों ने चुनाव आयोग के अधिकारी पर अपनी बात नहीं सुनने का आरोप लगाते हुए मतगणना स्थल पर ही धरने पर बैठ गए.
लखनऊ में यूपी विधान परिषद चुनाव की 2 सीटों पर मतगणना के दौरान जमकर हंगामा हो गया.

लखनऊ. यूपी विधान परिषद चुनाव की 11 सीटों पर काउंटिंग जारी है. गुरुवार को सुबह 8 बजे से मतों की गणना जारी है. लखनऊ में 2 सीटों पर हो रही मतगणना के रुझान गुरुवार देर रात 10 बजे से आने शुरू हो गए. इस बीच 24 में से 23 प्रत्याशियों ने चुनाव आयोग के अधिकारी पर अपनी बात नहीं सुनने का आरोप लगाते हुए मतगणना स्थल पर ही धरने पर बैठ गए. सपा प्रत्याशी राम सिंह राणा, निवर्तमान एमएलसी कांति सिंह धरना में बैठने वालों में शामिल रहे. विपक्षी पार्टियों के प्रत्याशी और उनके समर्थकों ने मतगणना स्थल पर जमकर हंगामा किया.

स्नातक चुनाव की काउंटिंग के दौरान कांग्रेस उम्मीदवार ब्रजेश सिंह के समर्थक बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं से भिड़ गए. उनका आरोप है कि बीजेपी समर्थक अनाधिकृत रूप से अंदर भीतर आ रहे थे. हंगामा बढ़ने के कारण रिटर्निंग अफसर कमिश्नर रंजन कुमार और जिला निर्वाचन अधिकारी अभिषेक प्रकाश मौके पर पहुंच कर उन्हें शांत कराया.

शिवपाल यादव ने सपा में विलय से किया इनकार, बना रहेगा प्रसपा का स्वतंत्र अस्तित्व

शिक्षक चुनाव की काउंटिंग जब शुरू होने से पहले सपा प्रत्याशी उमा शंकर चौधरी ने सील न होने और एजेंटों के हस्ताक्षर न होने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया. इसके बाद एआरओ ने उन्हें सभी सील लगी और एजेंटों के हस्ताक्षर वाली मतपेटियां दिखाईं, तब जाकर वह शांत हुए. प्रथम वरीयता में बीजेपी के उमेश द्विवेदी 6219, डॉ. महेंद्र नाथ निर्दलीय 3171, सपा से उमा शंकर चौधरी 2238, डॉ. आरपी मिश्र निर्दलीय 1975 वोट मिले. कुल 17 हजार 77 वोट वैध पाए गए हैं. 908 वोट अस्वीकृत किए गए हैं. 

CM योगी दे रहे उद्योगों को बढ़ावा, एमएसएमई इकाईयों को दिया 10,390 करोड़ का लोन

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें