यूपी पंचायत चुनाव: बैलेट पेपर लाने वाले कर्मचारियों का होगा कोरोना टेस्ट

Smart News Team, Last updated: Fri, 8th Jan 2021, 6:49 PM IST
  • चुनाव से पहले मतपत्र लेने के लिए हर जिले की टीम को दिल्ली जाकर मतपत्र लाना होता है. जो कर्मचारी दिल्ली जा रहे हैं, उनका कोरोना परीक्षण हो रहा है. प्रशासन ने सभी विभाग के विभागाध्यक्षों को पत्र भेजकर उनसे विभाग के चुनाव ड्यूटी में जाने वाले कर्मचारियों की सूची मांगी है.
यूपी पंचायत चुनाव की फाइनल वोटर लिस्ट में नाम जोड़ने-घटाने को लेकर बीएलओ ने एसडीएम से शिकायत की.

लखनऊ: यूपी पंचायत चुनाव (Up Panchayat election) को लेकर सियासी सरगर्मियों के बीच प्रशासनिक तैयारियां भी तेज हो गई है. मुरादाबाद से दिल्ली से बैलेट पेपर लाने जाने वाले कर्मचारी पूरी तरह फिट है या नहीं, इसको लेकर प्रशासन कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट करवाया. रिपोर्ट आने के बाद स्वस्थ कर्मचारियों की ही रवानगी हुई. कर्मचारियों को लेकर जाने वाली बस स्टाफ और ट्रक के ड्राइवर व क्लीनर का भी कोरोना टेस्ट हुआ.

पंचायत चुनाव संभवत: मार्च से अप्रैल में होने के संकेत मिले हैं, इसके चलते प्रशासन ने युद्ध स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी है. इस बार प्रदेश में पंचायत चुनाव में ग्राम पंचायत, क्षेत्रपंचायत, ग्राम प्रधान, जिला पंचायत के चुनाव चरणबद्ध तरीके से एक साथ होने वाले हैं. चुनाव बैलेट पेपर से होते हैं. ऐसी स्थिती में हर चुनाव से पहले मतपत्र लेने के लिए हर जिले की टीम को दिल्ली जाकर मतपत्र लाना होता है. मुरादाबाद जिले में भी होने वाले चुनाव को लेकर 37 कर्मचारियों की डयूटी दिल्ली से मतपत्र लाने में लगाई गई है. चकबंदी विभाग के बंदोबस्त अधिकारी आरएस सिंह के नेतृत्व में टीम 61 लाख मतपत्र लेने के लिए बृहस्पतिवार को रवाना हुई. मंगलवार को दिल्ली जाने वाले सारे स्टाफ का कोरोना टेस्ट हुआ। रिपोर्ट दुरूस्त आने वाले कर्मचारियों को ही भेजा गया.

अजित सिंह हत्याकांड: UP पुलिस ने हमलावरों की कार की बरामद, एक शूटर भी पकड़ा

ड्यूटी को लेकर हर विभाग से कर्मचारियों की मांगी गई सूची

पंचायत चुनाव में कर्मचारियों की डयूटी लगाने का काम शुरू हो गया है. प्रशासन ने सभी विभाग के विभागाध्यक्षों को पत्र भेजकर उनसे विभाग के चुनाव ड्यूटी में जाने वाले कर्मचारियों की सूची मांगी है. कर्मचारियों के नाम के साथ उनके फोटो भेजने को कहा गया है. मार्च में चुनाव होने की वजह अभी से हर विभाग से आने वाली सूची की डाटा फीडिंग का काम शुरू हो गया है. जिससे चुनाव की तारीख घोषित होते ही ट्रेनिंग और दूसरे विभागीय काम की भी शुरुआत की जा सके.

CM योगी ने की COVID-19 को लेकर बैठक, लिया कोरोना वैक्सीन के तैयारियों का जायजा

पंचायत चुनाव में इस बार चार पदों के लिए चुनाव एक साथ होने हैं. इस चुनाव में चरणबद्ध मतदान में करीब पंद्रह हजार कर्मचारियों की डयूटी लगेगी. इसको लेकर प्रशासन ने इस बार सभी विभागों से कर्मचारियों के नाम और फोटो मंगवाने का काम शुरू कर दिया है. बैंक और बिजली विभाग जैसी जरूरी सेवाओं के कर्मचारियों की भी फिलहाल सूची व फोटो मंगवाए गए हैं. पिछले चुनाव में बैंक और बिजली विभाग के कर्मचारियों की लगी डयूटी बाद में निरस्त कर दी गई थी. इस बार अभी सभी विभाग से डयूटी को सूची मंगवाई जा रही है. बाद में तय किया जायेगा की किस विभाग की ड्यूटी लगाई जायेगी और किसकी नहीं. लेकिन कर्मचारियों के नाम व फोटो मांगे जाने पर अभी से कर्मचारी कतराते नजरआने लगे हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें