पंचायत भवन अब बनेंगे ग्राम सचिवालय, फर्नीचर-ंकंप्यूटर के लिए मिलेंगे 1.75 लाख

Smart News Team, Last updated: Tue, 27th Jul 2021, 12:00 AM IST
  • सचिवालय के लिए राज्य सरकार प्रति पंचायत भवन 1.75 लाख रुपये देगी. जिससे ग्राम पंचायतें फर्नीचर और कम्प्यूटर क्रय करेंगी. ग्राम सचिवालय में जन सेवा केन्द्र एवं बीसी सखी के लिए भी स्थान उपलब्ध कराया जाएगा.
सचिवालय के लिए राज्य सरकार प्रति पंचायत भवन 1.75 लाख रुपये देगी. (प्रतिकात्मक फोटो)

लखनऊ. पंचायत भवनों को ही ग्राम सचिवालय के रूप में विकसित किया जाएगा. इस सचिवालय के लिए राज्य सरकार प्रति पंचायत भवन 1.75 लाख रुपये देगी. जिससे ग्राम पंचायतें फर्नीचर और कम्प्यूटर क्रय करेंगी. ग्राम सचिवालय में जन सेवा केन्द्र एवं बीसी सखी के लिए भी स्थान उपलब्ध कराया जाएगा. सचिवालय के संचालन के लिए पंचायत सहायक-एकाउन्टेंट कम डाटा एन्ट्री आपरेटर की नियुक्ति ग्राम पंचायत के प्रधान द्वारा आवेदन पत्र आमंत्रित करके की जाएगी. यह जानकारी पंचायतीराज मंत्री भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने सोमवार को राजधानी के लोक भवन में आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में दी.

सूचना के प्रकाशन की तिथि के 15 दिन तक आवेदन पत्र ग्राम पंचायत, विकास खण्ड अथवा जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में जमा किए जा सकते हैं. चयन की प्रक्रिया 30 जुलाई से 10 सितम्बर के बीच पूरी की जाएगी. आवेदन पत्र ग्राम पंचायत, विकास खण्ड अथवा जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में जमा किये जा सकते हैं, चयन की प्रक्रिया 30 जुलाई से आरम्भ होकर 10 सितम्बर 2021 तक पूर्ण कर ली जाएगी. शैक्षिक अर्हता आयु एवं जाति संबंधी प्रमाण-पत्र के साथ आवेदन पत्र ग्राम पंचायत की प्रशासनिक समिति के समक्ष रखे जाएंगे, जो हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट के प्राप्ताकों के प्रतिशत के औसत अंकों के अवरोही क्रम में तैयार पात्रता सूची से अभ्यर्थी का चयन करेंगी. ग्राम पंचायत के द्वारा चयनित अभ्यर्थी की सेवाएं एक वर्ष की संविदा पर होगी. एक वर्ष की अवधि की समाप्ती पर नया चयन किया जाएगा या सेवाएं संतोषजनक होने पर ग्राम सभा की खुली बैठक में प्रस्ताव पारित करके पुनः उसकी संविदा को अधिक दो वर्ष के लिए बढ़ाया जा सकेगा.

लखनऊ की मरीन ड्राइव से सूर्योदय और सूर्यास्त की खूबसूरती का नजारा है देखने लायक

पंचायत सहायक-एकाउन्टेंट कम डाटा एन्ट्री आपरेटर के लिए अर्हताए तय कर दी गई है. इसके अनुसार न्यूनतम शैक्षिक योग्यता उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित इण्टरमीडिएट परीक्षा उत्तीर्ण हो या राज्य सरकार द्वारा उसके समकक्ष मान्यता प्राप्त कोई अन्य अर्हता हो, चयन न्यूनतम आयु 1 जुलाई, 2021 को 18 वर्ष तथा अधिकतम 40 वर्ष हो. अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 05 वर्ष की छूट, आवेदक उसी ग्राम पंचायत का निवासी होना चाहिए. जो पंचायतें जिस श्रेणी में आरक्षित हैं, उन पंचायतों में उसी आरक्षित श्रेणी के पंचायत सहायक का चयन किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें