FB पर बने बुआ-बबुआ पेज की वजह से फंस गए मार्क जुकरबर्ग, यूपी में केस दर्ज

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Tue, 30th Nov 2021, 8:37 PM IST
  • फेसबुक सीईओ मार्क जुकरबर्ग के खिलाफ उत्तर प्रदेश में कोर्ट के आदेश पर मुकदमा दर्ज किया गया है. मार्क जुकरबर्ग के खिलाफ केस फेसबुक पर बुआ-बबुआ पेज पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के ऊपर अभद्र टिप्पड़ी करने के मामले में केस दर्ज किया गया है.
FB पर बने बुआ-बबुआ पेज की वजह से फंस गए मार्क जुकरबर्ग, कोर्ट के आदेश पर यूपी में केस दर्ज

लखनऊ. फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग के ऊपर उत्तर प्रदेश में मुकदमा दर्ज किय गया है. यह मुकदमा फेसबुक पर एक पेज बनाने को लेकर दर्ज कराया गया है. यह रिपोर्ट फेसबुक पर बुआ-बबुआ के नाम से पेज बनाकर समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की छवि खराब करने और अभद्र टिप्पणी करने के मामले में दर्ज किया गया है. यह मुकदमा कोर्ट के आदेश पर मार्क जुकरबर्ग समेत 49 के खिलाफ यूपी में कन्नौज के ठठिया थाना में दर्ज किया गया है.

मार्क जुकरबर्ग के खिलाफ मुकदमा दर्ज ठठिया थाना क्षेत्र के सराहटी गांव के निवासी अमित कुमार ने कराया है. अमित ने बताया कि वह समाजवादी विचारधारा से काफी प्रभावित है. साथ ही वह सपा पार्टी के समर्थक भी है. साथ ही वह अखिलेश यादव को काफी पसंद भी करते है. इसके साथ ही उन्होंने आगे बताया कि फेसबुक पर बुआ-बबुआ के नाम से एक पेज बना हुआ है. जिसपर अखिलेश यादव के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की जाती है.

लखनऊ के लोहिया संस्थान का हाल बेहाल, कोरोना जांच काउंटर पर भरा गंदा पानी

अमित ने आगे बताया कि अखिलेश यादव के अलावा पार्टी के अन्य नेताओं को गलत बताते हुए अभद्र टिप्पणी किया जाता है. साथ ही उनका कार्टून बनाकर छवि खराब किया जाता है. साथ ही आपत्तिजनक वीडियो बनाकर पोस्ट भी किया जाता है. उन्होंने आगे बताया कि इन पोस्ट को देखने के बाद उन्होंने ठठिया थाना शिकायत किया था. जहां पर मामले को संज्ञान में नहीं लिया गया. जिसके बाद उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. कोर्ट की तरफ से आदेश मिलने के बाद ठठिया थाना में फेसबुक संस्थापक और पेज एडमिन सहित 49 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

अखिलेश यादव के खिलाफ फेसबुक पर अभद्र टिप्पणी के मामले में एसपी प्रशांत वर्मा ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर फेसबुक फाउंडर, पेज एडमिन व उसे लाइक, कमेंट व शेयर करने वाले 49 के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है. फेसबुक पोस्ट की जांच की जाएगी. जिसमें आपत्तिजनक मामला देखा जाएगा. उसमे अगर कोई आपराधिक एंगल सामने आता है तो कानूनी कार्रवाई किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें