ओमप्रकाश राजभर पर UP पुलिस की नजर टेढ़ी, कार की डिक्की, बैग खुलवाकर चेकिंग Video

Smart News Team, Last updated: Tue, 2nd Nov 2021, 6:49 PM IST
  • सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी से गठबंधन करने के बाद यूपी पुलिस के निशाने पर आ गए हैं. ऐसा हम नहीं एक वायरल वीडियो को शेयर कर सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है. इस वीडियो में बांदा जिले की पुलिस राजभर का काफिला रोककर उनकी गाड़ियों की तलाशी करती हुई नजर आ रही है.
पुलिस चेकिंग के दौरान कार से बाहर खड़े ओम प्रकाश राजभर

लखनऊ. सुहेलदेव भारतीय समाजवाद पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर की गठबंधन की गाड़ी आखिरकार अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी पर जाकर रुकी और सपा के साथ में आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया. ऐसे में योगी सरकार में पूर्व मंत्री रहे राजभर अब प्रदेश में विपक्षी दल की भूमिका में पूरी तरह फिट हो गए, जिसका शायद कुछ नुकसान भी उन्हें मिलना शुरू हो गया है. दरअसल राजभर की एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जो उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की है. जहां यूपी पुलिस राजभर और उनके साथ जा रही गाड़ियों को चेक कर रही है.

मिली जानकारी के अनुसार, सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में बांदा जिले के एक थाने के बाहर पुलिस ओम प्रकाश राजभर के काफिले को रोककर उनकी गाड़ियों को चेक कर रही है. राजभर भी अपनी गाड़ी से बाहर उतरे हुए नजर आ रहे हैं, वहीं पुलिस उनकी गाड़ियों की डिक्की खुलवाकर चेक कर रही है. इतना ही नहीं, गाड़ी में रखे कपड़ों के बैग भी पुलिस ने खुलवाकर चेक किए हैं. नीचे देखिए वीडियो.

ग्रीन दिवाली मनानी है, शोर नहीं, प्रदूषण नहीं, तो ये इलेक्ट्रिक चटाई पटाखा ले आइए

बता दें कि ओम प्रकाश राजभर साल 2017 में भाजपा सरकार आने के बाद योगी मंत्रिमंडल में शामिल हुए थे. उस समय राजभर की पार्टी भाजपा के सहयोगी दल में से एक थी. हालांकि, सरकार चलने के कुछ दिनों बाद ही राजभर अक्सर अपनी ही योगी सरकार पर हमला करते हुए नजर आए. जिसके बाद 2019 लोकसभा चुनाव से पहले राजभर ने भारतीय जनता पार्टी से गठबंधन तोड़ लिया था.

अब 2022 विधानसभा चुनाव से पहले राजभर ने अपना भागीदारी संकल्प मोर्चा बनाया जिसमें कभी वे एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को कभी दूसरी पार्टियों के नेताओं संग भी नजर आए. यहां तक की भाजपा पर भी उन्होंने कई शर्तों के साथ गठबंधन करने का डोरा डाला. जब कहीं बात नहीं बनी तो राजभर ने यूपी के नेता विपक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की और अपनी पार्टी का गठबंधन सपा के साथ कर लिया. अब उनका दावा है कि दोनों पार्टियों का गठबंधन आने वाले चुनाव में बड़ी जीत हासिल करेगा.

लालू से नहीं हुआ JDU का विसर्जन, नीतीश जीते, RJD तारापुर, कुशेश्वर स्थान दोनों सीट हारी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें