लखमीपुर जा रहे कांग्रेस नेता सिद्धू के काफिले को यूपी पुलिस ने सहारनपुर में रोका

Ankul Kaushik, Last updated: Thu, 7th Oct 2021, 4:49 PM IST
  • पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवोजत सिंह सिद्धू भारी काफिले के साथ लखीमपुर खीरी जा रहे थे. वहीं यूपी पुलिस ने सिद्धू के काफिले को सहारनपुर में रोक लिया है. इसके साथ ही सिद्धू सहित कई कांग्रेस के नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है.
कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू, फोटो क्रेडिट (पंजाब कांग्रेस ट्विटर)

लखनऊ. लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए किसानों से मिलने जा रहे पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के काफिले को यूपी पुलिस ने सहारनपुर में रोक दिया गया है. इसी बीच कांग्रेस समर्थकों ने बैरिकेड्स को तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश वहीं पुलिस ने सिद्धू सहित कांग्रेस नेताओं को हिरासत में ले लिया है. इस दौरान कांग्रेस नेताओं और पुलिस के बीच काफी झड़प भी हुई और वहीं सिद्धू ने पुलिस से नोकझोंक करते हुए कहा कि जिस आरोपी को गिरफ्तार करना था वो खुलेआम घूम रहा है. वहीं सिद्धू के साथ इस काफिले में आए पंजाब कैबिनेट के मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग, विजयेंद्र सिंगला, गुरकीरत कोटली समेत कई विधायक हिरासत में लिए गए हैं. मोहाली से शुरू हुआ सिद्धू का काफिल यूपी के सहारनपुर में रोक दिया गया है.

इससे पहले सिद्धू ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को चेतावनी देते हुए कहा था कि वह 10 हजार गाड़ियों के काफिले के साथ लखीमपुर खीरी आ रहे है. अगर केंद्रीय मंत्री के बेटे को गिरफ्तार नहीं किया गया तो वो कल से भूख हड़ताल पर बैठेंगे. किसानों के लिए जान भी देनी पड़ी तो वो कुर्बान करने से पीछे नहीं हटेंगे. बता दें कि लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर सिद्धू लगातार ट्वीट भी कर रहे हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में मारे गए किसानों के परिवारों को 50-50 लाख रुपये देने की घोषणा की है.

लखीमपुर खीरी: मृतक किसानों को 50-50 लाख मुआवजा देगी कांग्रेस की छत्तीसगढ़ और पंजाब सरकार

बता दें कि रविवार को उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य खीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया इलाके में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव में एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आ रहे थे. इस दौरान किसानों द्वारा काले झंडे दिखाए जाने के मामले में भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई. इस घटना को लेकर केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को मुख्य आरोपी माना जा रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें