अंक सुधारने के लिए होंगे बैक पेपर, यूनिवर्सिटी छात्रों को ऐसे मिलेगा दूसरा मौका

Smart News Team, Last updated: Fri, 11th Jun 2021, 8:12 AM IST
  • शैक्षिक सत्र 2020-2021 के नए पैटर्न से परीक्षा दे रहे. सभी राज्य विश्वविद्यालय के सभी छात्रों को अंक सुधार का मौका दिया जाएगा. इस सत्र के छात्र साल 2022 में या फिर शैक्षिक सत्र 2022-23 के फाइनल परीक्षा में यह बैक पेपर दे सकेंगे.
राज्य विश्वविद्यालय 18 जून तक परीक्षा कार्यक्रम की पूरी योजना तैयार करें. (प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ : प्रदेश के राज्य विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए खुशखबरी है. इस बार शैक्षिक सत्र 2020 – 2021 के छात्रों के लिए अंक सुधार करने का अवसर दिया जाएगा. यह मौका केवल शैक्षिक सत्र 2020 और 2021 के छात्रों के लिए ही होगा. इसके लिए शासन ने राज्य विश्वविद्यालय से 18 जून तक एग्जाम का प्रोग्राम तैयार करके मांगा है. इसके अलावा शासन ने राज्य विश्वविद्यालयों को नया शैक्षिक सत्र 2021–2022 को 13 सितंबर 2021 से शुरू कर देने को कहा है.

दरअसल कोरोना संक्रमण के कारण यूनिवर्सिटी के छात्रों के लिए नए पैटर्न से एग्जाम कराने का निर्णय किया गया है. नए पैटर्न से परीक्षा देने में कुछ स्टूडेंट सहज महसूस नहीं कर रहे हैं. इस लिए नए पैटर्न से परीक्षा देने वाले छात्र अपने रिजल्ट से संतुष्ट नहीं होते हैं. तो शासन ने उनके लिए साल 2022 में होने वाले बैक परीक्षा या फिर साल 2022–23 के अंतिम परीक्षा या अंतिम सेमेस्टर परीक्षा में पेपर देकर अंक सुधार करने का मौका दे रहा है.

यूपी के 83 राजकय इंटर कॉलेजों में जल्द होगी नए प्रिंसिपलों की नियुक्ति, जानें

शासन ने इसके अलावा केवल शैक्षिक सत्र 2020–21 के छात्रों के लिए जो कोरोना से संक्रमित हो गए हो. उनको दोबारा परीक्षा का मौका देने को कहा है. साथ ही नए शैक्षिक सत्र 2020–21 का पेपर का रिजल्ट 21 अगस्त तक जारी करने को कहा है. शासन ने सभी विश्वविद्यालय को अपने अनुसार एग्जाम सिस्टम को सरल बनाने को कहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें