कोरोना के बाद UP में ब्लैक फंगस का कहर, सोमवार को तीन और मौत, 17 मरीज भर्ती

Smart News Team, Last updated: Mon, 24th May 2021, 11:28 PM IST
  • सोमवार को लखनऊ के विभिन्न अस्पतालों में ब्लैक फंगस के कुल 17 मरीज भर्ती किए गए. तो वहीं 3 मरीजों ने इलाज के दौरान अपनी जान गवां दी. ब्लैक फंगस के इलाज में सांसे ज्यादा दिक्कत तब आ रही है जब प्राइवेट अस्पताल अपने यहां ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीजों का डाटा स्वस्थ विभाग को नहीं दे रहें हैं.
कोरोना के बाद UP में ब्लैक फंगस का कहर, सोमवार को तीन और मौत, 17 मरीज भर्ती

लखनऊ: पूरा देश अभी कोरोना बीमारी महामारी की चपेट से निकला नहीं था, की एक नई बीमारी ब्लैक फंगस से सामना हो गया . जोकि बहुत ही घातक बीमारी है. इस बीमारी में मरीजों का ऑपरेशन करना पड़ रहा है. उत्तर प्रदेश में भी इसका बड़ा असर देखने को मिल रहा है. सोमवार को लखनऊ के विभिन्न अस्पतालों में ब्लैक फंगस के कुल 17 मरीज भर्ती किए गए. तो वहीं 3 मरीजों ने इलाज के दौरान अपनी जान गवां दी. ब्लैक फंगस के इलाज में सांसे ज्यादा दिक्कत तब आ रही है जब प्राइवेट अस्पताल अपने यहां ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीजों का डाटा स्वस्थ विभाग को नहीं दे रहें हैं.

सोमवार को सबसे ज्यादा ब्लैक फंगस पीड़ित 14 मरीजों को केजीएमयू में भर्ती किया गया. प्रदेश के विभिन्न जिलों से इन मरीजों को केजीएमयू में भर्ती कराया गया है. केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक ब्लैक फंगस के 149 मरीज भर्ती हैं. घातक ब्लैक फंगस से पीड़ितों की जान बचाने के लिए पांच मरीजों के ऑपरेशन किए गए. 24 घंटे में तीन मरीजों ने इलाज के दौरान दम तोड़ा. इनमें बिहार के 40 वर्षीय पुरुष, देवरिया की 53 वर्षीय महिला व लालगंज की 70 वर्षीय महिला शामिल हैं. लोहिया संस्थान में तीन नए मरीज भर्ती कराए गए हैं. अब तक यहां ब्लैक फंगस के 17 मरीज भर्ती कराए जा चुके हैं. इसी तरह प्राइवेट अस्पतालों में भी काफी मरीजों का इलाज चल रहा है. लखनऊ के अस्पतालों में ब्लैक फंगस मरीजों की संख्या 227 पहुंच गई है. अब तक 19 मरीज दम तोड़ चुके हैं. पीड़ितों की संख्या व मौत के आंकड़े बढ़ने से डॉक्टरों की चिंता बढ़ गई है.

कोरोना काल में CM योगी के यूपी के जिलों में दौरे पर अखिलेश यादव का तंज, बोले...

सरसों का तेल बचाएगा ब्लैक फंगस से

केजीएमयू के पूर्व कुलपति डॉ. एमएलबी भट्ट के मुताबिक कोरोना से जंग जीत चुके मरीजों को आगे भी सचेत रहने की जरूरत है. काफी मरीजों में पोस्ट कोविड दिक्कतें देखने को मिल रही हैं. उन्होंने बताया कि नाक में रोजाना सरसों व नारियल का तेल लगा सकते हैं. इससे फंगस नहीं पनपता है. यह प्रक्रिया रोज अपनानी होगी. इससे ब्लैक फंगस का खतरा रोक जा सकता है. कोरोना से उबरने के पश्चात रोगियों को जल्द रिकवरी के लिए प्रतिदिन ढाई से तीन लीटर पानी पीना चाहिए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें