UP शिक्षक भर्ती काउंसलिंग में अभ्यार्थियों की उमड़ी भीड़, भूले सोशल डिस्टेंसिंग

Smart News Team, Last updated: 15/10/2020 10:21 AM IST
  • प्रशासन के आदेश के बाद 69000 हजार शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में काउंसलिंग शुरू हो गई है. मंगलवार को आगरा में अभ्यार्थियों की भीड़ ने जमकर कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाई.
डायट में काउंसलिंग में उमड़ी अभ्यार्थियों की भीड़

आगरा: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बुधवार से शिक्षक भर्ती के लिए काउंसलिंग शुरू हो गई है. कल जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान में चार सौ से अधिक अभ्यर्थियों को काउंसलिंग के लिए बुलाया गया था. आठ काउंटर पर कराई काउंसलिंग के दौरान विभाग द्वारा कोरोना के नियमों का पालन कराने के प्रयास किए गए. लेकिन सारे दावे हर काउंटर पर धराशायी होते दिखाई दिए.

जानकारी के मुताबिक काउसलिंग के लिए पहुंचे भावी शिक्षकों के बीच दो गज की दूरी का नियम दिखाई नहीं दिया. जिला एवं प्रशिक्षण संस्थान में काउंसलिंग के पहले दिन 97.25 से 69.38 कटऑफ के 401 अभ्यर्थियों को बुलाया गया था. काउंसलिंग के लिए 69000 शिक्षक भर्ती के सापेक्ष 31277 पदों पर भर्ती के लिए काउंसलिंग कराई गई. काउंसलिंग के लिए विभाग ने आठ काउंटर बनाए थे. सभी काउंटर पर 50-50 अभ्यर्थियों को बुलाया गया था. सुबह से शुरू हुई काउंसलिंग देर शाम तक पूरी नहीं हो पाई. बता दें कि रात आठ बजे के बाद भी काउंसलिंग की प्रक्रिया चल रही थी. काउंसलिंग प्रक्रिया मुख्य विकास अधिकारी जे. रीभा के निर्देशन में पूरी कराई गई.    

UP शिक्षक भर्ती: 16 अक्टूबर को नियुक्ति पत्र, सफल उम्मीदवारों से CM करेंगे बात

कोरोना संक्रमण से बचाव में शिक्षा विभाग अपने दावों को पूरा करने में फेल हो गया. वहीं दूसरी ओर शिक्षक बनकर नई पीढ़ी को ज्ञान देने की जिम्मेदारी उठाने की तैयारी कर रहे अभ्यर्थी वर्तमान हालात की सबसे बड़ी जिम्मेदारी निभाने में फेल हो गए. जल्दबाजी में ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा और ना ही मास्क और हैंड सेनेटाइजेशन का. इसके साथ ही काउंसलिंग प्रक्रिया में बहुत सी अभ्यर्थी ऐसी थीं, जिनके साथ कुछ महीनों के बच्चे थे. काउंसलिंग प्रक्रिया के दौरान मां की नौकरी के लिए मासूमों की खूब परीक्षा देना पड़ गया. भीड़ और सोशल डिस्टेंसिंग ना होने से बच्चों का स्वास्थ खतरे में पड़ गया. वहीं कुछ माता पिता मासूमों को जमीन पर लिटाकर अपने डॉक्यूमेंट्स को संभालते दिखाई दिए.

UP शिक्षक भर्ती: आरक्षण नियमों का उल्लंघन, सुप्रीम कोर्ट जाएंगे, OBC उम्मीदवार

इसके साथ ही बता दें कि जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान में 15 अक्तूबर यानी गुरुवार को 69.35 से 57.25 के 273 अभ्यर्थियों की काउंसलिंग होगी. काउंसलिंग के लिए सभी प्रमाण पत्रों की मूल प्रति प्लास्टिक फोल्डर में लानी होगी. साथ ही प्रमाण पत्रों के फोटोकॉपी के तीन सेट भी प्लास्टिक फोल्डर में लाने हैं. डीवी पूरी होने के बाद नियुक्ति पत्र 16 अक्तूबर को सौंपे जाएंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें