परिवहन विभाग की बस यात्रियों को सौगात, लखनऊ से फिर इन शहरों के लिए चलेगी AC स्लीपर बस

Shubham Bajpai, Last updated: Fri, 17th Dec 2021, 1:25 PM IST
  • लखनऊ परिवहन निगम फिर से अपनी यात्रियों की सुविधा के एसी स्लीपर बस चलाने जा रहे हैं. 18 दिसंबर से ये बस तीन शहरों के लिए शुरू की जा रही है. इन बसों में फिटनेस न होने की वजह से कई महीनों से ये सेवा बंद पड़ी थी. विभाग इसको फिर से शुरू करने जा रहा है. शुरुआत में दो-दो बसें आलमबाग से संचालित होंगी.
परिवहन विभाग की बस यात्रियों को सौगात, लखनऊ से फिर इन शहरों के लिए चलेगी AC स्लीपर बस

लखनऊ. राजधानी से बसों से कई शहरों की यात्रा करने वाले यात्रियों को लखनऊ परिवहन निगम बड़ी सौगात देने जा रहा है. परिवहन विभाग रेलवे की तर्ज पर शुरू की गई एसी स्लीपर बस को फिर से लखनऊ से शुरू करने जा रहा है. 18 दिसंबर को ये सेवा फिर से आमजन के लिए शुरू की जा रही है. अभी तक ये सेवा बंद पड़ी थी. आलमबाग बस टर्मिनल से दो-दो बसें शुरुआत में तीन शहरों के लिए संचालित की जाएगी.

इन शहरों के लिए संचालित होंगी बसें

परिवहन विभाग में फिटनेस के अभाव में महीनों से बंद पड़ी इस सेवा को शुरुआत में तीन जोड़ी स्लीपर बसें के माध्यम से शुरू करने जा रहा है. इशमें दो-दो बसें आलमबाग टर्मिनल से देहरादून, बलिया और शक्तिनगर के बीच संचालित होंगी.

अखिलेश ने छुए चाचा के पांव, भावुक होकर शिवपाल ने लगाया गले और कही ये बात

ये रहेगी बसों की समय सारिणी

जानकारी अनुसार, एसी स्लीपर बसें आलमबाग से देर रात दस बजे बलिया के लिए रवाना होगी. देहरादून के लिए बस कैसरबाग बस अड्डे से रात 9 बजे मिलेगी और यहां से रवाना होगी. वहीं, आलमबाग बस टर्मिनल से शक्तिनगर के लिए स्लीपर एसी बसों का संचालन 21 दिसंबर से किया जाएगा.

लखनऊ में आज निषाद पार्टी और भाजपा की संयुक्त महारैली, शाह करेंगे संबोधित

ठंड में यात्रियों का सफर होगा आसान

आलमबाग बस डिपो के एआरएम डीके गर्ग ने बताया कि फिर से लखनऊ परिवहन विभाग एसी स्लीपर बसों का संचालन करने जा रहा है. इन बसों का संचालन आलमबाग बस टर्मिनल से किया जाएगा. शुरुआत में आधा दर्जन के करीब बसों का संचालन किया जाएगा. ये बसें तीन शहरों बलिया, देहरादून और शक्तिनगर के बीच संचालित होगी. इस सेवा से ठंड में यात्रियों का सफर आसान होगा. विभाग द्वारा बसों में एडवांस व तत्काल बुकिंग सीटों के लिए शुरू हो गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें