हाइवे पर गाड़ियों की स्पीड लिमिट पर ब्रेक! परिवहन विभाग ने नई एडवाइजरी की जारी

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 05:28 PM IST
  • परिवहन विभाग ने नेशनल हाइवे पर गाड़ियों की स्पीड पर ब्रेक लगा दी है. कार की स्पीड लिमिट 100 किमी प्रति घंटा से घटाकर 60 किमी प्रति घंटा कर दी है. नोएडा-आगरा एक्सप्रेस समेत अन्य हाइवे पर स्पीड लिमिट कम करने के साथ नए नियम भी जारी किए गए हैं.
जाने क्या है परिवहन विभाग का हाइवे पर गाड़ियों की स्पीड को लेकर नई एडवाइजरी

परिवहन विभाग ने हाइवे पर गाड़ियों की स्पीड पर फिर ब्रेक लगा दी है. नोएडा-आगरा एक्सप्रेस वे पर भी चार पहिया वाहन की स्पीड लिमिट घटाकर 60 किमी प्रति घंटा कररी दी गई. वहीं राज्य के अन्य हाइवे पर भी स्पीड लिमिट को कम किया गया है.ठंड और बढ़ते कोहरे के कारण परिवहन विभाग ने फैसला लिया है कि रात 9 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक हाइवे पर गाड़ियों की स्पीड कम रखी जाएगी. जिससे दुर्घटनाओं पर काबू पाया जा सके.

दरअसल ठंडी के समय रातों में अधिकतर सड़क दुर्घटनाए होती है. जिसको ध्यान में रखते हुए परिवहन विभाग ने रात में गाड़ियों की स्पीड को कम रखने के लिए एडवाइजरी जारी किया है. वहीं परिवाह अफसरों ने बताया कि कानपूर-लखनऊ, दिल्ली-प्रयागराज, अलीगढ़ हाइवे के साथ-साथ यूपी के अन्य हाइवे पर भी वाहनों कि गति कम रखने के लिए कहा गया है.

 वहीं विभाग ने कहा कि यदि कोहरे के में दृष्यता कम हो तो वाहनों को कही किनारे खड़ा करके पार्किंग यानि कि पिली लाइट जलाकर कोहरा साफ होने तक का इंतजार भी किया जा सकता है.

लखनऊ: यूपी को मिलेगी सबसे ज्यादा कोरोना वैक्सीन की डोज, केंद्र सरकार की एडवाइजरी जारी

कड़ी कार्यवाई होगी 

यदि कोई परिवाह विभाग द्वारा जारी नए नियम के तहत राजमार्ग पर तय स्पीड से वहां चलता है तो उसपर कार्यवाई किया जाएगा और ओवरस्पीड का चलान भी किया जाएगा. वहीं यूपी परिवहन आयुक्त डीके त्रिपाठी ने कहा कि ठंडी में जारी हुई नई एडवाइजरी सभी वहां चालकों के लिए हितकारी है.

IRCTC को हैक कर टिकट बुकिंग में सेंधमारी करने वाला एजेंट गिरफ्तार 

यदि सभी छोटी-छोटी चीजों को हम लोग अमल करे तो दुर्घटनाए टाली जा सकती है. इसके साथ ही उन्होंने ने आगे कहा कि यदि कोई चालक इन सभी चीजों का ध्यान में रखकर वाहन चलाता है तो वह आपनो के साथ ही दुसरो को भी सुरक्षित रखता है.

मेरठ में पैर छूने वाले गिरोह का आतंक, अकेले निकलने से डर रहे बुजुर्ग, जानें क्यो

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें