UP ने कार, बाइक प्रदूषण जांच का रेट बढ़ाया, पॉल्यूशन सर्टिफिकेट में अब दोगुना खर्च

Smart News Team, Last updated: 21/11/2020 05:10 PM IST
  • नए साल से यूपी में गाड़ियों का प्रदूषण जांच कराने लिए ज्यादा पैसे देने पड़ेंगे. दोपहिया के 50 रुपए, चार पहिया के लिए 70 और डीजल वाली गाड़ियों के 100 रुपए देने होंगे.
यूपी में गाड़ियों के प्रदूषण जांच की दर बढ़ी.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में अब गाड़ियों के प्रदूषण की जांच करना महंगा हो गया है. इसके लिए प्रदेश भर में नई दरों को ऐलान हो गया है. जो 1 जनवरी 2021 से लागू होंगी. इन दरों के अनुसार अब गाड़ी के मालिकों को प्रदूषण की जांच करने के लिए दोगुना पैसा देना पड़ेगा.

उत्तर प्रदेश में प्रदूषण जांच के ये इन दरें नये साल से लागू हो जाएंगी. इन नई दरों के संबंध में शनिवार को परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने सभी आरटीओ को दिशा-निर्देश भेज दिया है. इस नए निर्देश के अनुसार, दो पहिया वाहन के लिए 50 रुपए देने पड़ेंगे.

लखनऊ: भ्रष्टाचार की शिकायतों के बाद एलडीए में DM की छापेमारी, 5 कर्मचारी अरेस्ट

अभी दोपहिया वाहन के प्रदूषण जांच कराने के लिए 30 रुपए देने पड़ते हैं. वहीं चार पहिया वाहन के लिए 40 और डीजल वाली गाड़ियों के लिए 50 रुपए देने पड़ते हैं। नए साल से लागू होने वाली दरों के अनुसार, चार पहिया और तीन पहिया गाड़ियों के लिए 70 रुपए देने पड़ेंगे. वहीं डीजल वाली गाड़ियों में प्रदूषण की जांच के लिए 100 रुपए देने पड़ेंगे. 

यूपी में अब फरवरी तक हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवा सकेंगे वाहन मालिक

आपको बता दें कि वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए सभी प्रकार की गाड़ियों पीयूसी लेना अनिवार्य है. इसके लिए गाड़ियों का प्रदूषण जांच किया जाता है. इसके लिए राज्य के लगभग सभी पेट्रोल पंप पर प्रदूषण जांच केन्द्र खुला हुआ है. इसमें पता लगाया जाता कि कहीं कोई गाड़ी तय मानकों से ज्यादा प्रदूषण तो नहीं छोड़ रही है. जांच के बाद सब सही होने पर पॉल्यूशन सर्टिफिकेट जारी कर दिया जाता है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें