UP Unlock Guidelines: कंटेनमेंट जोन के बाहर सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खुलेंगे बाजार

Smart News Team, Last updated: Sun, 30th May 2021, 5:25 PM IST
  • यूपी में कोरोना के मामलों में लगातार गिरावट को देखते हुए योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक जून से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू करने का फैसला लिया है. हालांकि, अभी भी यूपी के 20 जिलों में पाबंदी बरकरार रहेगी लेकिन उनके अलावा सभी जिलों में कंटेनमेंट जोन के बाहर कई तरह की छूट दी जाएंगी. पढ़ें गाइडलाइंस.
यूपी में अब अनलॉक, सुबह सात से शाम सात तक खुलेंगे बाजार

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामलों में कमी देखते हुए योगी आदित्यनाथ सरकार ने यूपी में लागू लॉकडाउन को धीरे-धीरे खोलने की तैयारी शुरू कर दी है. योगी सरकार ने 1 जून से अनलॉक की गाइडलाइंस को जारी कर दिया है. अब प्रदेश में सुबह सात बजे से लेकर शाम 7 बजे तक बाजार खोले जा सकेंगे. हालांकि, यह छूट सिर्फ कंटेनमेंट जोन से बाहर के इलाकों में मान्य होगी. बाजार सिर्फ सोमवार से शुक्रवार यानी पांच दिन खुलेंगे. शनिवार और रविवार को साप्ताहिक बंदी रहेगी. शाम सात बजे से सुबह सात बजे नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा.

गौरतलब है कि यूपी के 20 जिलों को छोड़कर सभी जिलों में सुबह सात से शाम सात बजे तक अनलॉक की ये छूट लागू की जाएंगी. इन सभी जिलों में कोरोना केस 600 से अधिक हैं. ऐसे में अगर आगे इन जिलों में केस 600 से नीचे जाते हैं तो छूट लागू हो जाएंगी और ऐसे ही अगर किसी जिले में केस बढ़ते हैं तो वहां पर छूट खत्म हो जाएगी.

UP Unlock Guidelines: 600 से अधिक केस वाले जिलों में चलेगा रात का कोरोना कर्फ्यू

यूपी के जिन जिलों में अनलॉक की छूट रहेगी उनमें फ्रंटलाइन सेवा वाले सरकारी दफ्तर पूरे स्टाउ के साथ चलेंगे. वहीं अन्य सरकारी दफ्तर में पचास फीसदी स्टाफ को अनुमति होगी. इसके अलावा प्राइवेट दफ्तर भी खुलेंगे. सभी ऑफिसों में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क अनिवार्य होगा. साथ ही एक हेल्प डेस्क बनानी होगी. 

UP Unlock: 600 मरीज लॉकडाउन छूट का बेस, ज्यादा केस तो छूट खत्म, कम तो रियायत

यूपी के इन 20 जिलों में मेरठ, लखनऊ, सहारनपुर, वाराणसी, गाजियाबाद, गोरखपुर, मुजफ्फरनगर, बरेली, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, झांसी, प्रयागराज, लखीमपुर खीरी, सोनभद्र, जौनपुर, बागपत, मुरादाबाद, गाजीपुर, बिजनौर और देवरिया शामिल हैं.

उत्तर प्रदेश सरकार का लेटेस्ट कोरोना अनलॉक गाइडलाइन पढ़ें

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें