यूपी: गर्भवती महिलाओं और दिव्यांग सरकारी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा

Smart News Team, Last updated: Wed, 26th Jan 2022, 4:39 PM IST
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना के चलते सरकारी दफ्तरों में दिव्यांग कर्मचारियों और गर्भवती महिलाकर्मियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा देने के निर्देश जारी किए हैं.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना के संक्रमण को देखते हुए सरकारी कार्यालयों में कार्यरत दिव्यांग कर्मचारियों और गर्भवती महिलाओं को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा दे दी गई है. योगी आदित्यनाथ सरकार की ओर से बुधवार को इस संबंध में नए निर्देश जारी किए गए. सरकार ने कहा कि दिव्यांग कर्मचारी और गर्भवती महिलाकर्मी को कोरोना के चलते घर से ही काम कराया जाए. ऐसे कर्मचारी फोन या इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से अपने दफ्तर से संपर्क में रहेंगे. इसके लिए संबंधित विभागों को उचित इंतजाम कराने के निर्देश दिए गए हैं.

राज्य सरकार ने यह भी स्पष्ट किया कि 13 जनवरी 2022 को जारी आदेश के तहत सभी सरकारी दफ्तरों में ग्रुप ख, ग और घ के कर्मचारियों की 50 फीसदी उपस्थिति संबंधी व्यवस्था पूर्ववत लागू रहेगी. अन्य कर्मचारियों को दफ्तर आकर काम करना होगा.

पुरानी पेंशन बहाली वादे पर कर्मचारियों ने अखिलेश को घेरा, मांगा सपा का टिकट

बता दें कि करीब दो हफ्ते पहले यूपी सरकार ने कोरोना के चलते आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी दफ्तरों में एक समय में 50 फीसदी कर्मचारियों के ही उपस्थित रहने के आदेश दिए थे. अन्य कर्मचारियों को घर से काम करने की सुविधा देने की बात कही थी. साथ ही सभी दफ्तरों में कोविड हेल्प डेस्क स्थापना करने के निर्देश दिए गए.

रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तर प्रदेश में मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना के 86,563 एक्टिव केस हैं. बीते 24 घंटे में कोविड मरीजों के 11 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें