10 मार्च के बाद आवारा पशुओं की समस्या का समाधान, गोबर से रोजगार पैदा करेगी योगी सरकार!

Haimendra Singh, Last updated: Sat, 5th Mar 2022, 11:35 AM IST
  • पीएम मोदी ने अपनी रैलियों में आवारा पशुओं पर बात करते हुए कहा है कि 10 मार्च के बाद यूपी में दोबारा से भाजपा सरकार बनने पर पशुओं की समस्या का समाधान किया जाएगा. इसके लेकर सरकार ऐसा प्रबंध करेगी, जिससे पशुओं और किसानों को कोई समस्या ना हो.
आवारा पशुओं की समस्या का समाधान करेगी भाजपा सरकार.( फोटो- लाइव हिंदुस्तान )

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में 6 चरणों के मतदान हो चुके हैं और सातवें चरण के लिए 7 मार्च को वोटिंग होगी. यूपी चुनाव में मंदिर, बिजली, सड़क, फ्री राशन के साथ-साथ आवारा पशुओं का मुद्दा लगातार बना रहा है. विपक्षी ने इस मुद्दे को लेकर लगातार योगी सरकार पर हमला किया है. यूपी चुनाव शुरू होने के बाद पीएम मोदी ने अपनी रैलियों में लगातार कहा है कि नई गवर्नमेंट बनने के बाद भाजपा सरकार सबसे पहले पशुओं के मुद्दे को खत्‍म किया जाएगा. बता दें 10 मार्च को यूपी विधानसभा चुनाव के 7 चरणों की मतगणना होगी.

पीएम मोदी के वादे के बाद आधिकारी आवारा पशुओं की समस्या का निस्तारण करने और उनके गोबर को धन बनाने के लिए मंथन कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि 2017 में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद सभी अवैध बूचड़खाने बंद करा दिए, जिसमे पशुओं के कटान में काफी कमी आई. लेकिन इससे पशुओं सड़कों और खेतों में देखे जाने लगे. आए दिन किसानों ने भी आवारा पशुओं के द्वारा फसलों को बर्बाद करने की बातें कही है.

UP Election: CM योगी बोले- सपा-BSP के गुंडे विदेश भागने की फिराक में, इनकी गर्मी यहीं निकालेंगे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बरेली, उन्नाव व बहराइच की चुनावी रैलियों में कहा कि हम यूपी के किसानों को छुट्टा जानवरों के कारण हो रही समस्याओं को गंभीरता से ले रहे हैं. सरकार ने सभी समस्याओं का समाधान खोज लिया है. 10 मार्च को नई सरकार बनने के बाद हम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उन सभी नई योजनाओं को लागू करेंगे, ताकि सड़कों और किसानों के खेतों में पशुओं की घूसने की घटना दोबारा न हो. इसके अलावा सरकार गोबर से आय अर्जित करने का प्रयास करेगी. एक दिन ऐसा आएगा कि जब लोगों को लगेगा, घर में छुट्टा जानवरों को बांध लो, इससे भी कमाई होने वाली है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें