कोरोना में काम के लिए आंगनबाड़ी कर्मी को 500 और सहायिकाओं को 250 रुपये प्रतिमाह देगी योगी सरकार

Ankul Kaushik, Last updated: Mon, 3rd Jan 2022, 2:16 PM IST
  • उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकत्री व साहयकिओं को कोरोना में काम करने के लिए प्रोत्साहन राशि देगी. प्रदेश की योगी सरकार कोरोना के दौरान काम करने के लिए 1 अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2022 तक के लिए आंगनबाड़ी कार्यकत्री को 500 रुपये और सहायिकाओं को 250 रुपये प्रतिमाह देगी.
लखनऊ में आंगनबाड़ी कार्यकत्री व सहायिका सम्मेलन के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ, फोटो क्रेडिट (ANI)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में आंगनबाड़ी कार्यकत्री व सहायिका सम्मेलन व आंगनबाड़ी केन्द्रों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया. इस दौरान सीएम योगी ने कहा यूपी सरकार कोरोना के दौरान काम करने के लिए 1 अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2022 तक के लिए आंगनबाड़ी कार्यकत्री को 500 रुपये और सहायिकाओं को 250 रुपये प्रतिमाह देगी. इस दौरान 585 आंगनबाड़ी केंद्रों का शिलान्यास हुआ वहीं 169 केंद्रों का लोकार्पण हुआ और उत्कृष्ट कार्यो के लिए शमा परवीन (गोरखपुर), कांति वर्मा (बाराबंकी), कमलेश कुमार (बुलंदशहर) को सम्मानित किया गया. वहीं योगी सरकार ने परफॉर्मेंस लिंक कर दिया अगर अच्छा परफॉर्मेंस होगा तो आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का 5500 की जगह 8000 रुपये तक, मिनी 4250 की जगह 6500 रुपये तक और सहायिकाओं को 2750 की जगह 4000 रुपये तक मिलेगा.

इसके साथ ही सीएम योगी ने कहा मुझे बताते हुए प्रसन्नता है कि आज कई आंगनबाड़ी केंद्रों के स्वयं के भवन भी बने हैं. अब बुनियादी शिक्षा के लिए 03 से 05 आयु वर्ग के बच्चों का भी नामांकन होगा, बुनियादी शिक्षा की पहली पाठशाला हमारा आंगनबाड़ी केंद्र होगा. वर्ष 2017 से पहले आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों व सहायिकाओं के बारे में यह माना जाता था कि वे कुछ नहीं करतीं. आज आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियां एक स्वस्थ व समृद्ध उत्तर प्रदेश बनाने में अपना योगदान दे रही हैं.

कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन पर CM योगी बोले- घबराने की जरूरत नहीं, वायरल बुखार जैसा

वहीं सीएम योगी ने कहा- मैं अपने सभी हेल्थ वर्कर्स, चिकित्सकों, कोरोना वॉरियर्स व फ्रंट लाइनर आशा वर्कर्स, आंगनबाड़ी व एएनएम का यूपी सरकार व प्रदेश की जनता की ओर से अभिनंदन करता हूं. मैं आपको धन्यवाद दूंगा कि वर्ष 2018 के बाद आप लोग किसी भी आंदोलन के साथ नहीं जुड़े. भारत सरकार के स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार के इंडेक्स में उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक सुधार आया है, इसमें आशा वर्कर्स, आंगनबाड़ी व एएनएम का अहम योगदान है. आंगनबाड़ी के साथ प्रदेश की मा. राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल जी का विशेष लगाव है. उन्होंने केंद्रों को गोद लेने व उसमें आने वाले बच्चों को तमाम प्रकार की सामग्रियां उपलब्ध कराने में बड़ी भूमिका का निर्वहन किया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें