UP में शहरी मकानों को 17 डिजिट की यूनिक प्रॉपर्टी ID, एक क्लिक में मालिक सामने

Smart News Team, Last updated: 20/11/2020 09:46 PM IST
  • यूपी के शहरी इलाकों की संपत्तियां अब जल्द ही 17 डिजिट की यूनिक प्रॉपर्टी आईडी से पहचानी जाएंगी. यूनिक प्रॉपर्टी आईडी से आसानी से उसके मालिक और प्रॉपर्टी के प्रारूप जानकारी मिल जाएगी.
फाइल फोटो

लखनऊ: यूपी सरकार उत्तर प्रदेश के शहरी इलाकों की संपत्तियों को अब जल्द ही 17 डिजिट की यूनिक प्रॉपर्टी आईडी देगी और शासन के लिए यही उनकी पहचान होगी. आवासीय से लेकर कमर्शियल सभी तरह की संपत्तियों की कोडिंग करवाई जाएगी. राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के सभी जिलों के शहरी निकायों में संपत्तियों की पहचान में एकरुपता लाने की कवायद योगी सरकार ने तेज कर दी है.

प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने सभी मंडल आयुक्तों, जिलाधिकारियों, नगर आयुक्तों और नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारियों को संपत्तियों का विवरण तैयार करवाने के निर्देश दिए हैं. इस यूनिक प्रॉपर्टी आईडी से आसानी से उसके मालिक और प्रॉपर्टी के प्रारूप का ब्योरा देखा जा सकेगा. इसके अलावा यूनिक आईडी को संपत्तियों पर निर्धारित टैक्स प्रणाली से भी जोड़ा जाएगा ताकि उसी से हाउस टैक्स की मौजूदा स्थिति के बारे में भी जानकारी हासिल की जा सके.

यूपी में 9,700 करोड़ की निवेश परियोजनाओं से 1.96 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

संपत्तियों का ये यूनिक कोड 17 अंकों का होगा. पहले दो अंक लोकल गवर्नमेंट डॉयरेक्टरी के होंगे. तीन से पांच अंक तक स्थानीय निकाय का कोड होगा. छह से सात अंकों तक स्थानीय निकाय का जोनल कोड होगा. आठ से दस अंकों तक स्थानीय निकाय का वॉर्ड कोड और 11 से 16 अंकों तक संपत्ति का कोड होगा. 17वे अंक के स्थान पर एक विशेष अक्षर संपत्ति के प्रारूप को दर्शाएगा.

यूपी में अब फरवरी तक हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवा सकेंगे वाहन मालिक

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें