UP में गैंगेस्‍टरों की प्रापर्टी जब्त करेगी योगी सरकार, लागू हुई नई नियमावली

Sumit Rajak, Last updated: Wed, 5th Jan 2022, 1:08 PM IST
  • उत्तर प्रदेश में अपराधियों पर गैंगस्टर की कार्रवाई होने पर अब सीधे उनकी संपत्ति जब्त होगी. इससे पहले संपत्ति जब्त करना एक वैकल्पिक था. प्रदेश में पहली बार गैंगस्टर नियमावली 2021 लागू हुई. जिसको लेकर डीएम ने स्थानीय स्तर पर आदेश जारी कर दिया है.
फाइल फोटो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में अपराधियों पर गैंगस्टर की कार्रवाई होने पर अब सीधे उनकी संपत्ति जब्त होगी. इससे पहले संपत्ति जब्त करना एक वैकल्पिक था. प्रदेश में पहली बार गैंगस्टर नियमावली 2021 लागू हुई. जिसको लेकर डीएम ने स्थानीय स्तर पर आदेश जारी कर दिया है.वहीं नियमावली में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं. सोमवार की रात विधानसभा चुनाव को लेकर पुलिस के अधिकारियों और थानाध्यक्षों की बैठक में नई नियमावली के बारे में जानकारी दी गई. बता दें कि संपत्ति जब्ती की रिपोर्ट आने पर जिलाधिकारी स्वयं या किसी विधि अधिकारी से संपत्ति की जांच करा सकते हैं.

गैंगस्टर नियमावली में अपराधियों में डर पैदा करने के लिए कई महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं. धारा 376 डी यानी गैंगरेप, 302, 395, 396 और धारा 397 के अंतर्गत आने वाले अपराधों में जल्ज ही गैंगस्टर लगाया जाएगा. लेकिन पुरानी व्यवस्था में कितनी भी गंभीर धारा हो, गैंगस्टर की कार्रवाई के लिए एक से ज्यादा केस का होना जरूरी था. इस गैंगस्टर नियमावली में जिलाधिकारी की अनुमति से अपराधों में शामिल हुए नाबालिग पर भी कार्रवाई हो सकेगी. नियमावली के मुताबिक अगर गैंग चार्ट में नाम नहीं है और विवेचना के दौरान यह बात सामने आती है कि किसी की अपराध में शामिल रही है या फिर अपराधी का किसी रूप में सहयोग किया है तो जिलाधिकारी की अनुमति से उसका नाम गैंगस्टर में जोड़कर चार्जशीट दाखिल की जा सकती है.लेकिन किसी पर गैंगस्टर के तहत कार्रवाई गलती से कर दी गई है तो विवेचना के दौरान जिलाधिकारी उसे वापस ले सकेंगे. यदि आरोप पत्र दाखिल हो चुका है तो राज्य सरकार से सिफ़ारिश की जाएगी.

UP में भी किसानों को दी जा सकती है फ्री बिजली, विद्युत उपभोक्ता परिषद ने पेश किया ये फार्मूला

जिलाधिकारी विजय किरण आनंद ने बताया कि गैंगस्टर की नई नियमावली लागू हो चुकी है. इससे अपराधियों में भय होगा और गंभीर अपराध करने से घबराएंगे. नियमावली को कड़ाई से लागू कराने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें