यूपी के युवाओं का कमाल! सेंसर से सब्जी उगाई, घर में बनाया बायोफ्यूल, CM योगी ने ऐसे की मदद

Haimendra Singh, Last updated: Wed, 10th Nov 2021, 9:57 AM IST
  • उत्तर प्रदेश के युवा स्टार्टअप के अपने स्टार्टअप के जरिए प्रदेश के युवा को नौकरी देने की योजना बना रहे है. इन्होंने अपने स्टार्टअप से प्रदेश का नाम रोशन किया है. युवाओं के इन स्टार्टअप से खुश होकर प्रदेश सरकार ने 17 स्टार्टअप्स को पांच-पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी है.
उत्तर प्रदेश के युवाओं ने स्टार्टअप से किया प्रदेश का नाम रोशन.( सांकेतिक फोटो )

लखनऊ. प्रदेश के युवा अपने स्टार्टअप के जरिए उत्तर प्रदेश का नाम रोशन कर रहे हैं. इन युवाओं ने स्टार्टअप के जरिए नौकरी मांगने की उम्र में लोगों को नौकरी दी है. युवा अपने स्टार्टअप में सेंसर के माध्यम से सब्जियां उगा रहे है तो कुछ युवा स्टार्टअप में घरेलू इस्तेमाल में प्रयोग होने वाले तेल से बॉयोफ्यूल बना रहे है. कुछ युवाओं ने लाखों मीट्रिक टन पानी बचाकर सोलर पैनल साफ करने की मशीन बनाने के कार्य में जुटे है. इन सभी युवाओं को प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार कॉमर्शियल लांच के लिए पांच लाख रुपए की आर्थिक मदद  कर चुकी है.

प्रदेश के युवाओं के स्टार्टअप को पूरे देश में सराहा जा रहा है. मिली जानकारी के अनुसार अभी तक सरकार प्रदेश के 17 स्टार्टअप को कॉमर्शियल लांच के लिए आर्थिक मदद दे चुकी है. जिन स्टार्टअप को प्रदेश सरकार की ओर से आर्थिक सहायता दी जा रही है वह प्रदेश में स्थापित इंक्यूबेटर की मदद से कमर्शियल लांच की स्टेज तक पहुंच चुके हैं. युवा के यह स्टार्टअप जल्द ही पूरे देश में अपनी छाप छोड़ते नजर आएंगे. 

रेलवे का श्रद्धालुओं को तोहफा, इन दो ट्रेनों से आसान होगी यात्रा, जानें पैकेज

ये है प्रदेश के स्टार्टअप

लखनऊ के विवेक कुमार और अंश शुक्ला का स्टार्टअप ‘मेडफ्यूजन वेल्ड प्राइवेट लिमिटेड’ खाना पकाने के तेल में को जैव ईंधन बनाने की नीति पर कार्य कर रहे है. तो वहीं गाजियाबाद में एनरे सॉल्यूशंस एलएलपी के ऋषभ भारद्वाज एक ऐसा प्रोटोटाइप विकसित किया है जो इन पैनलों की सफाई करता है. एक मेगावॉट बिजली उत्पादन करने वाले सोलर पैनल की सफाई करने के लिए 5.50 लाख लीटर पानी की बर्बादी होती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें