भूखंड पर समय से कब्जा न देने पर यूपीसीडा पर 7.19 लाख रुपये का जुर्माना

Smart News Team, Last updated: Wed, 10th Feb 2021, 10:36 AM IST
  • ट्रांस गंगा सिटी के मामले में रेरा ने की कार्रवाई, एक आवंटी ने रेरा में दाखिल किया था वाद
सांकेतिक फोटो

कानपुर : यूपी रेरा ने आवंटी की शिकायत पर सुनवाई करने के बाद यूपीसीडा प्रबंधन पर 7.19 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। आवंटी दीपक द्विवेदी का आरोप है कि उसने यूपीसीडा से ट्रांसगंगा सिटी में भूखंड लिया था लेकिन 90 दिन के बाद भी इस पर उन्हें कब्जा नहीं दिया गया और न ही जमा धनराशि पर कोई ब्याज ही दिया गया। आवंटी की शिकायत पर रेरा ने यूपीसीडा को कब्जा देने का फैसला सुनाया था। लेकिन इसके बाद भी यूपीसीडी ने आवंटी को भूखंड पर कब्जा नहीं दिया। इससे पर आवंटी ने दोबारा रेरा मे अपील की। इसके बाद रेरा सचिव राजेश कुमार त्यागी ने आदेश का उल्लंघन करने पर 7,19,100 रुपये का जुर्माना प्राधिकरण पर लगाया है।

यूपीसीडा ने ट्रांसगंगा सिटी में भूखंडों का आवंटन किया था। आवासीय भूखंड लेने वालों को समय से कब्जा नहीं मिला और वहां पर विकास कार्य भी बंद हो गया। करीब चार सौ आवंटियों ने भूखंड वापस नहीं किया। उन्होंने ट्रांसगंगा सिटी रेजीडेंट वेलफेयर असोसिएशन का गठन किया।

अवैध खनन : 34 घनमीटर की अनुमति लेकर किया 122,700 घन मीटर मिट्टी खनन

इसके अध्यक्ष दीपक द्विवेदी ने रेरा में वाद दायर करके ट्रांसगंगा सिटी का पंजीकरण कराने का आग्रह किया। इसमें उन्हें सफलता मिली तो उन्होंने भूखंड पर कब्जा देने और जिस अवधि तक कब्जा नहीं दिया गया उस अवधि में पूर्व में जमा राशि पर ब्याज की मांग की गई। मामले में सुनवाई हुई तो रेरा ने ब्याज अदा करने के लिए कहा, लेकिन इस आदेश का पालन नहीं हुआ। रेरा ने भूमि पर कब्जा देने का भी आदेश दिया था। इस मामले में दोबारा दीपक ने वाद दायर किया तो रेरा की ओर से प्रबंधन को अर्थदंड लगाया गया है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें