यूपी सरकार ने इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिले का नियम बदला, पास करना होगा ये टेस्ट

Smart News Team, Last updated: Thu, 26th Nov 2020, 11:10 AM IST
  • शैक्षिक सत्र 2021-22 से इंजीनियरिंग करने वालों विद्यार्थियों का दाखिला जेईई-मेंस के माध्यम से होगा. कुलसचिव ने इस पर जानकारी दी है कि परीक्षा के अभ्यास के लिए गूगल ऐप स्टोर नेशनल टेस्ट अभियास ऐप डाउनलॉड कर सकते है. जेईई परीक्षा का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा किया जाता है.
शैक्षणिक सत्र 2020-2021 में जेईई-मेन्स के आधार पर  इंजीनियरिंग दाखिल होंगे.(फाइल फोटो)

लखनऊ. डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित की जाने वाली जानी उत्तर प्रदेश राज्य इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा (यूपीएसईई) परीक्षा अब नहीं होगी. शैक्षणिक सत्र 2021-22 से इंजीनियरिंग करने वालों विद्यार्थियों का दाखिला जेईई-मेंस के माध्यम से होगा. कुलसचिव ने इस पर जानकारी दी है कि परीक्षा के अभ्यास के लिए गूगल ऐप स्टोर नेशनल टेस्ट अभियास ऐप डाउनलॉड कर सकते है. जेईई परीक्षा का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा किया जाता है. 

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय के कुलसचिव नंदलाल सिंह ने बताया कि शैक्षिक सत्र 2021-21 के लिए इंजीनियरिंग में प्रवेश के लिए केवलजेईई-मेंस की परीक्षा देनी होगी. जबकि शैक्षिक सत्र  2020-21 में प्रदेश के सभी सरकारी और निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों के इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश यूपीएसएसई-2020 के माध्यम से दाखिले किेये गए हैं. यह परीक्षा केवल इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों से हटाई गई है. बी. फार्मा व एमबीए समेत अन्य के लिए यह परीक्षा जारी रहेगी. इसके आलाव कोई जानकारी चाहते है तो छात्र यूपीएसईई की वेबसाइट (www.upsee.nic.in) पर मिल जाएगी. इसके लिए टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 18001800161 अथवा कार्यालय के नंबर 0522-2336805 भी जिस पर संपर्क किया जा सकता है.

26 नवंबर: लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, मेरठ, गोरखपुर में पेट्रोल डीजल के नहीं बढ़े दाम

कुलसचिव ने बताया है कि इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों 2020-2021 में दाखिल लेने के इच्छुक छात्र ‘नेशनल टेस्ट अभ्यास’ ऐप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं. इस ऐप के माध्यम से परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं. जेईई-मेंस परीक्षा की तैयारी के लिए प्राविधिक विश्वविद्यालय नि:शुल्क कोचिंग कक्षाएं चलवाने का प्रयास भी किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें