23 जनवरी को होने वाली UPTET परीक्षा को लेकर सरकार सख्त, जानें परीक्षा से जुड़े गाइडलाइन

Uttam Kumar, Last updated: Wed, 19th Jan 2022, 12:55 PM IST
  • 23 जनवरी को राज्य में होने वाले यूपी टेट परीक्षा को लेकर सरकार की तरफ से तैयारी पुरी कर लिया गया है. सभी अभ्यार्थी को सेंटेर पर जाने से पहले प्रवेश पत्र में दिए गए सभी जानकारी को ध्यान से पढ़ना चाहिए. ताकि कोई भी गलती ना हो. 
23 जनवरी को होगी UPTET की परीक्षा. (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा( UPTET Exam) का आयोजन 23 जनवरी 2022 को किया जाएगा. इसके लिए तैयारी पुरी कर ली गई है. पिछली बार 28 नवंबर 2021 को टीईटी परीक्षा पेपर लीक होने के कारण स्थगित कर दिया गया था. जिसे अब दुबारा आयोजित किया जा रहा है. इस बार किसी तरह की धांधली ना हो इसके लिए सख्ती बढ़ा दी गई है. अगर आप भी 23 जनवरी को परीक्षा देने जा रहे हैं तो आपको परीक्षा से जुड़ी गाइड्लाइन एक बार अच्छे से जरूर पढ़ लेना चाहिए. एक छोटी सी गलती आपके मेहनत पर पानी फेर सकती है.  

किसी तरह की धांधली ना हो इसके लिए काफी पुख्ता तैयारी किया गया है. इस बार अभ्यार्थी को परीक्षा भवन 30 – 40 मिनट पहले पहुंचना होगा. परीक्षा शुरू होने बाद किसी भी हाल में परीक्षा में बैठने की इजाजत नहीं दी जाएगी. इसके साथ ही अभ्यार्थी को सेंटर में प्रवेश करने के लिए UPTET एडमिट कार्ड 2021 के साथ, वैलिड फोटो आईडेंटी प्रूफ ले जाना होगा जैसे वोटर कार्ड, आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस आदि. इसके साथ ही मास्क,  ट्रांसपेरेंट पानी की बोतल,  वैलिड फोटो आईडेंटी प्रूफ, हैंड सैनिटाइजर भी ले जाने की छूट है. 

यूपी चुनाव : मात्र 11 फीसदी आबादी, फिर भी ब्राह्मणों का साथ पाने को हर पार्टी बेताब, जानें क्यों

पिछली बार प्रश्नपत्र लीक हो जाने के कारण प्रवेश परीक्षा रद्द करना पड़ा था. इस बार परीक्षा के लिए प्रश्नपत्र व ओएमआर शीट बैग की सील खोले जाने के समय वीडियो रिकार्डिंग करवाई जाएगी. साथ ही हर पाली के लिए अलग-अलग मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं. पेपर शुरू करने से पांच मिनट पहले टेस्ट बुकलेट की सील तोड़ी जाएगी. साथ ही अभ्यार्थी को हर हाल में  अपनी आवंटित सीट पर बैठना होगा. किसी अन्य जगह बैठे पाए जाने पर उसे परीक्षा से निष्कासित कर दिया जाएगा.  

सरकार इस बार यूपी टेट के परीक्षा में किसी तरह की कोताही बरतने के मूड में नहीं है. पिछली बार प्रश्न पत्र लीक हो जाने के कारण राज्य सरकार को काफी आलोचना का शिकार होना पड़ा था. सभी अभ्यार्थी को सेंटेर पर जाने से पहले प्रवेश पत्र में दिए गए सभी जानकारी को ध्यान से पढ़ना चाहिए.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें