सड़क सुरक्षा पर बोले CM योगी-रोड हादसे में रोज जाती है 65 लोगों की जान, सतर्क रहें

Smart News Team, Last updated: Thu, 21st Jan 2021, 8:14 PM IST
  • यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अपने आवास पर सड़क सुरक्षा माह जागरूकता अभियान को लांच किया. इस मौके पर सीएम ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि ट्रैफिक रूल्स के बारे में जानें और उनका पालन करें.
सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने आवास से सड़क सुरक्षा माह जागरुकता अभियान लांच किया.

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को कहा कि सड़क दुर्घटना में हर रोज 65 लोगों की मौत होती है. उन्होंने लोगों से ट्रैफिक रूल्स के बारे में जागरूक रहें और पालन करने की अपील की. सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अपने आवास पर सड़क सुरक्षा माह जागरूकता अभियान को लांच किया. आपको बता दें सीएम ने सड़क सुरक्षा और दुर्घटनाओं को रोकने के लिए सड़क सुरक्षा माह शुरू किया है. सड़क सुरक्षा माह के तहत जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. 

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अपने आवास पर सड़क सुरक्षा माह जागरूकता अभियान को लांच किया. सीएम योगी आदित्यनाथ ने परिवहन विभाग की 55.70 करोड़ की अलग-अलग योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि नशे में ड्राइविंग, गाड़ी चलाते समय मोबाइल का इस्तेमाल, ओवर स्पीडिंग, सीट बेल्ट जैसी छोटी गलतियां का नतीजा रोड एक्सीडेंट होता है. जिसका खामियाजा पूरे परिवार  को भुगतना पड़ता है.

CM योगी ने शुरू किया सड़क सुरक्षा माह अभियान, हरी झंडी दिखा कर रैली रवाना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि खराब रोड इंजीनियरिंग, ओवर स्पीडिंग और एक्सप्रेस-वे पर कट मारना सड़़क दुर्घटना का एक बड़ा कारण है. संबंधित विभागों को इन इन पर ध्यान देना चाहिए. सीएम ने कहा कि शुरुआत में लोगों को जागरुक करने के लिए ये खास कैंपन चलाया जा रहा है. बाद में ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी.

योगी सरकार गणतंत्र दिवस पर 500 कैदियों को करेगी रिहा, उम्रदराज,बीमारों को तरजीह

सड़क सुरक्षा माह के दौरान स्कूली बच्चों के बीच जागरुकता फैलाने पर जोर देते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यातायात जागरुकता और सड़क सुरक्षा के बारे में उनको शुरु से ही जानकारी होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा और ट्रैफिक रूल्स के बारे में स्कूलों में विशेष किया जाना चाहिए. सीएम ने निर्देश दिया कि हर जिले में महीने के दौरान एक नोडल ऑफिसर तैनात किया जाए. ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने से पहले हर व्यक्ति की योग्यता की अच्छे से जांच की जाए. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें