सख्तीः कोरोना वैक्‍सीनेशन में लापरवाही, 20 मदरसों व 30 स्कूलों को वैक्सीन न लगाने पर नोटिस

Sumit Rajak, Last updated: Fri, 21st Jan 2022, 10:18 AM IST
  • 15 से 18 आयु वर्ग के छात्र-छात्राओं को कोरोना वैक्सीन लगाने में लापरवाही बरतने वाले 20 मदरसों और 20 विद्यालयों को नोटिस जारी किया गया है. कई निर्देशों के बाद भी शहर के 20 मदरसे और 30 माध्यमिक स्तर के विद्यालय ऐसे मिले हैं. जहां अध्ययनरत एक भी छात्र-छात्रा का वैक्सीनेशन नहीं दिखाया. जिला विद्यालय निरीक्षक डा. अमरकांत सिंह ने सभी को नोटिस जारी कर 24 जनवरी तक टीकाकरण पूर्ण कराने के सख्त निर्देश दिए हैं.
फाइल फोटो

लखनऊ. 15 से 18 आयु वर्ग के छात्र-छात्राओं को कोरोना वैक्सीन लगाने में लापरवाही बरतने वाले 20 मदरसों और 20 विद्यालयों को नोटिस जारी किया गया है. कई निर्देशों के बाद भी शहर के 20 मदरसे और 30 माध्यमिक स्तर के विद्यालय ऐसे मिले हैं. जिन्होंने अपने यहां अध्ययनरत एक भी छात्र-छात्रा का वैक्सीनेशन नहीं दिखाया. कोरोना वैक्सीनेशन के प्रति उदासीनता देखते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक डा. अमरकांत सिंह ने सभी को नोटिस जारी कर 24 जनवरी तक टीकाकरण पूर्ण कराने के सख्त निर्देश दिए हैं.

बता दें कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए एक ओर सरकार अधिक से अधिक लोगों के टीकाकरण के लिए जोर लगा रही है, तो वही टीकाकरण को लेकर स्कूलों की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है. 15 से 18 आयु वर्ग के विद्यार्थियों के चल रहे टीकाकरण अभियान में करीब 20 मदरसों समेत 30 से स्कूल ऐसे विद्यालय हैं जिन्होंने जन सुरक्षा से जुड़े इस महाअभियान का जमकर मजाक उड़ाया. लेकिन कई मदरसों और विद्यालयों में एक भी बच्चे का टीकाकरण नहीं कराया. 

सपा का बढ़ता कारवां: अखिलेश को मिला इमरान मसूद का साथ, रागिब अंजुम को बड़ी जिम्मेदारी

इस मामले के बाद जिला विद्यालय निरीक्षक डा अमरकांत सिंह ने इन स्कूलों को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है. इसके लिए उन्हें 24 जनवरी तक की समय दी गई है.  उन्होंने कहा कि स्पष्टीकरण ना मिलने पर इन विद्यालयों के विरुद्ध कोविड-19 के प्रावधानों के तहत विद्यालयों के प्रधानाचार्य का वेतन रोक दिया जाएगा और स्व वित्त पोषित विद्यालयों की मान्यता या एनओसी निरस्त करने के लिए आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर जिला बेसिक शिक्षा विभाग सतर्क है. जिससे  छात्र-छात्राओं की सुरक्षा को सुनिश्चित किया जा सके. विद्यालयों में अध्ययनरत 15 से 18 वर्ष के छात्र-छात्राओं के शत प्रतिशत टीकाकरण को लेकर जिला बेसिक शिक्षा विभाग ने अभियान चलाया है. जिसमें 25 जनवरी तक 15 से 18 वर्ष के सभी छात्र-छात्राओं को कोरोना का टीका लगाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें