कोरोना के कहर से लखनऊ का कोई कोना नहीं बचा, हर मुहल्ले में मरीज, 2543 नए पॉजिटिव

Sumit Rajak, Last updated: Sat, 22nd Jan 2022, 1:12 PM IST
  • लखनऊ में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम नही हो रही. शहर के लगभग सभी बड़े मुहल्लों व रिहायशी इलाकों को कोरोना ने अपने जद में ले लिया है.लगातार लोग संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं. शहर के ज्यादातर इलाकों को वायरस ने जकड़ लिया है. शनिवार को 2543 लोग वायरस की चपेट में हैं. एक दिन में ही इतने मरीज बढ़ने से विभाग में हड़कंप हैं.
फाइल फोटो

लखनऊ.लखनऊ में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम नही हो रही. शहर के लगभग सभी बड़े मुहल्लों व रिहायशी इलाकों को कोरोना ने अपने जद में ले लिया है.लगातार लोग संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं. शहर के ज्यादातर इलाकों को वायरस ने जकड़ लिया है. शनिवार को 2543 लोग वायरस की चपेट में हैं. एक दिन में ही इतने मरीज बढ़ने से विभाग में हड़कंप हैं.

कैसरबाग के आस-पास के इलाकों में सबसे ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं. यहां 398 लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है. चिनहट दूसरे स्थान पर है. यहां 377 लोगों में वायरस का पता चला है. अलीगंज में 341 लोग वायरस की जद में आ गए हैं. आलमबाग में 328 व सरोजनीनगर में 218 लोग वायरस की जद में आ गए हैं.

कांग्रेस के गढ़ रायबरेली या अमेठी से प्रियंका गांधी लड़ सकती है विधानसभा चुनाव

जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. मिलिंद वर्धन के मुताबिक बाहर से आने वालों की जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जा रही है. इनमें 90 फीसदी लोगों में कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रोन की पुष्टि हो रही है. उन्होंने बताया कि मौजूदा समय में करीब 180 मरीज कोविड हॉस्पिटल में भर्ती हैं. वहीं दूसरे जिलों के भी मरीज लखनऊ के अस्पतालों में भर्ती हैं.

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार, लोगों की लापरवाही से वायरस बढ़ रहा है. मास्क न लगाने तथा भीड़भाड़ वाले इलाकों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन न करने से यह स्थिति पैदा हो रही है. इस पर काबू न होने पर वायरस और तेजी से फैल सकता है. इसलिए जरूरी है कि सभी लोग प्रोटोकॉल का पालन करें तथा टीका जरूर लगवाएं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें