लखनऊ को मिला 200 नई सीएनजी बसों का तोफा, दस हजार दैनिक यात्रियों को होगा फायदा

Sumit Rajak, Last updated: Mon, 7th Mar 2022, 7:01 AM IST
  • दैनिक यात्रियों को देखते हुए राजधानी लखनऊ में 200 नई सीएनजी बसें चलाई जाएगी. नगरीय परिवहन निदेशालय के प्रस्ताव को भारी उघोग मंत्रालय की तरफ से मंजूरी दे दी गई है. शहर के आठ रुटों पर ये बसें चलाई जाएगी. 12 साल बाद लखनऊ को नई बसों का बेड़ा मिलेगा.
फाइल फोटो

लखनऊ. राजधानी के दैनिक यात्रियों की सुविधा के लिए शहर में 200 नई सीएनजी बसें चलाई जाएगी. 12 साल बाद लखनऊ में नगर बसों का बेड़ा बढ़ने जा रहा है. नई सीएनजी बसों को लेकर नगरीय परिवहन निदेशालय ने अपनी तैयारी शुरू कर दी हैं. विभाग के मुताबिक नई सीएनजी बसें गोमतीनगर डिपो से आठ रुटों पर चलाई जाएंगी. हर रोज 10 हजार दैनिक यात्री इन बसों से सफर कर सकेंगे.

परिवहन विभाग के मुताबिक नई बसें गोमतीनगर सीटी बस डिपो से दुब्बगा, इंदिरानगर होते हुए महानगर, मडियांव होते हुए आईआईएम रोड तक. फैजाबाद रोड चिनहट होते हुए अंसल तक, गोमतीनगर विस्तार होते हुए शहीद पथ कानपुर रोड तक. कैसरबाग बस अड्डे से माल होते हुए मलिहाबाद तक. एयरपोर्ट से हजरतगंज होते हुए गोमतीनगर के विरराज खंड तक और कैसरबाग से दुबग्गा होते हुए गोसाईगंज रुट पर चलेंगी.

लापरवाही:माल सीएचसी में महिला ने नसबंदी के 7 साल बाद बच्ची को दिया जन्म, हड़कंप

सीएनजी बसें चलने से पर्यावरण को भी नुकसान नही होगा और प्रदूषण में भी कमी आएगी. भारी उघोग मंत्रालय ने नगरीय परिवहन निदेशालय के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. 14 शहरों में में कुल 1500 नगर बसें चलाई जाने की योजना है. जिनमें 200 नई बसें राजधानी में चलाई जाएगीं. बसों के चलने के बाद आम लोगों को बसों के लिए ज्यादा इंतजार नही करना होगा.

नगरीय परिवहन निदेशालय के संयुक्त निदेशक अजीत सिहं ने बताया कि यूपी के 14 शहरों में 1500 सीएनजी बसें अनुबंध पर चलाने के लिए केंद्र सरकार के भारी उघोग मंत्रालय से मंजूरी मिल गई है. दो माह में प्रक्रिया पूरी कर जनता को सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी. बता दें कि 2009 में राजधानी में 260 नई सीएनजी बसें आई थी. ये बसें कंडम हो चुकी हैं. इस वक्त लखनऊ में सौ बसें चल रही हैं. पर इतनी बड़ी आबादी की वजह से ये न काफी साबित हो रही है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें