भारतीय टीम में जगह बनाना है सपना, पूरा न होने तक चैन से नहीं बैठूंगाः अंकित राजपूत

Smart News Team, Last updated: 04/12/2020 08:07 PM IST
  • यूपी के तेज गेंदबाज अंकित राजपूत ने बताया कि उनका सपना भारतीय टीम में जगह बनाना है. जब तक सपना पूरा नहीं हो जाता है, चैन से नहीं बैठेंगे. तेज गेंदबाज अंकित राजपूत शुक्रवार को लखनऊ के इकाना स्टेडियम में हुए फाइनल मैच में खिलाड़ियों को हौंसला बढ़ाने पहुंचे थे.
यूपी के तेज गेंदबाज अंकित राजपूत ने कहा कि भारतीय में जगह बनाना सपना है.

लखनऊ. मेरा सपना भारतीय टीम में जगह बनाना है. जब तक अपना सपना पूरा नहीं कर लेता चैन से नहीं बैठूंगा. ये बात उत्तर प्रदेश के तेज गेंदबाज अंकित राजपूत ने लखनऊ के इकाना स्टेडियम में हुए फाइनल मैच में खिलाड़ियों का हौंसला बढ़ाते हुए कही. अंकित राजपूत ने कहा कि इस बार आईपीएल में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा. आपको बता दें कि कानपुर के अंकित राजपूत आईपीएल में राजस्थान राॅयल्स से खेलते हैं. 

राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज अंकित राजपूत ने कहा, उम्मीद थी कि इस बार 20 विकेट का कोटा पूरा करेंगे लेकिन इस बार सिर्फ 9 विकेट ही ले पाया. अंकित ने कहा कि अभी बहुत मेहनत करनी है. उन्होंने अपनी कई कमियों को महसूस किया है. उन्हें दूर करने लिए कड़ी मेहनत करेंगे. आईपीएल खत्म होने के बाद ही वो मेहनत करने में जुट गए हैं.

यूपी के तेज गेंदबाज अंकित राजपूत लखनऊ के इकाना स्टेडियम खिलाड़ियों का हौंसला बढ़ाने पहुंचे थे.

जयपुर के SS जैन कॉलेज को हराकर DAV जालंधर ने जीता रेड बुल कैंपस क्रिकेट टूर्नामेंट

लखनऊ के इकाना स्टेडियम में शुक्रवार को फाइनल मैच देखने पहुंचे तेज गेंदबाज अंकित राजपूत ने बताया कि फिलहाल उनके सामने रणजी ट्रॉफी और मुश्ताक अली ट्रॉफी के मुकाबले हैं. इन टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए मेहनत कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि रणजी ट्रॉफी के लिए बीसीसीआई ने कार्यक्रम जारी नहीं किया है लेकिन उम्मीद है कि जनवरी से सत्र शुरू हो जाएगा. आपको बता दें कि प्रथम श्रेणी में अंकित राजपूत 63 मैचों में 215 विकेट ले चुके हैं.

DIV-A फुटबॉल टूर्नामेंट में अवध म्यूटीनियर ने सनराइज टीम को दी मात, 2-1 से जीते

आईपीएल में अंकित राजपूत पहले कोलकाता नाइटराइडर्स, किंग्स इलेवन पंजाब और फिर अब राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा हैं. जिसके बारे में अंकित ने कहा कि महेन्द्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा ने बहुत सिखाया लेकिन गौतम गंभीर उनके लिए कुछ खास रहे. उन्होंने कहा कि गंभीर ने सिर्फ खेल ही नहीं आत्मविश्वास के साथ खड़े रहने की सीख भी दी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें