यूपी को पहला आयुष संस्थान मिला, यहां होगा कोरोना संक्रमण का इलाज

Smart News Team, Last updated: Sun, 9th May 2021, 8:24 AM IST
  • उत्तर प्रदेश को कोरोना संक्रमितों का इलाज करने के लिए पहला आयुष संस्थान मिल गया है. जहां पर कोविड मरीजों का इलाज आयुष 64 दवा से किया जाएगा.
यूपी को पहला आयुष संस्थान मिला, यहां होगा कोरोना संक्रमण का इलाज

लखनऊ. उत्तर प्रदेश को अपना पहला आयुष संस्थान मिल गया है. जहां पर अब कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार किया जाएगा. वही यहां पर कोविड रोगियों का उपचार आयुष 64 दवा से किया जाएगा. बता दे कि भारत सरकार की आयुष मंत्रालय की तरफ से देशभर में ऐसे 15 संस्थान चुने गए है. जहां पर कोविड मरीजों का इलाज किया जाएगा. जिसमे से एक लखनऊ में स्थित केंद्रीय रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ यूनानी मेडिसिन (CRIUM) को आयुष सेंटर के रूप में चुना गया है. जिसको लेकर आयुष मंत्रालय के विशेष सचिव की तरफ से चिठ्ठी भी जारी किया गया है.

देशभर में आयुष संस्थानों को चुनने को लेकर शनिवार को बैठक भी किया गया था. वही इस बैठक में बताया गया कि इन संस्थानों में कोविड मारिजों का इलाज आयुष 64 दवा से किया जाएगा. जिसके लिए आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक, मेडिकल कॉलेज और अन्य संस्थानों के चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है. जिसको लेकर पहले ही आयुष विशेष सचिव प्रमोद कुमार की तरफ से निर्देश जारी किया जा चुका है. 

योगी सरकार का बड़ा फैसला, कोरोना ड्यूटी के मृतक आश्रितों को मिलेंगे 50 लाख रुपए

इतना ही नहीं देशभर में आयुष सेंटर के रूप में कई अन्य संस्थाओं को भी चुना जा रहा है. जहां पर कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज किया जा सके. वही इसके लिए देश भर में करीब 66 हजार चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है. जिन्हें प्रशिक्षित करने के लिए 33 हजार मास्टर ट्रेनर भी लगाए गए है. वही गुजरात दिल्ली में आयुष सेंटर बनाकर पहले से ही कोरोना मारिजों का उपचार किया जा रहा है.

लाखों रुपयों में थाइलैंड से यूपी आई कॉल गर्ल, कोरोना से मौत के बाद हड़कंप, जानें

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें