UP सरकार चुनाव से पहले कर्मियों के भत्ते फिर कर सकती है बहाल, कोरोना काल हुए थे बंद

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Wed, 1st Dec 2021, 8:14 AM IST
  • उत्तर प्रदेश सरकार आगामी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले कोरोना काल मे बन्द किए हुए कुछ भत्तों की फिर बहाल कर सकती है. बंद हुए भत्तों फिर से शुरू करने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में समिति बना इसपर पड़ने वाले खर्च का आकलन किया जा रहा है.
UP सरकार चुनाव से पहले कर्मियों के भत्ते फिर कर सकती है बहाल कोरोना काल हुए थे बंद File photo

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार विधानसभा चुनाव 2022 से पहले राज्य कर्मचारियों का एक-दो भत्तों को बहाल कर सकती है. वहीं यह भत्ते कोरोना काल में बंद कर दिया गया था. राज्य कर्मियों के भत्ते शुरू करने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में समिति बनाई गई है. जो उनके मांगों और समस्याओं पर बैठक करने के बाद कुछ भत्तों को शुरू करने के लिए परीक्षण और आने वाले खर्च का आकलन वित्त विभाग से करा रही है. वहीं सिम जैसे नए भत्ते भी शुरू करने का निर्णय लिया जा सकता है. 

कई कर्मचारी यह मानकर चल रहे है कि यूपी सरकार द्वारा नगर प्रतिकर भत्ता CCA और सचिवालय भत्ता को फिर से शुरू किया जा सकता है. साथ ही पुलिस के जवानों को दिए जाने वाले पौष्टिक आहार भत्ते की धनराशि में इजाफा किए जाने की उम्मीदें भी लगाई जा रही है. इन भत्तों की बहाली को लेकर होने वाली अटकलों के बीच राज्य सरकार इन्हें फिर से शुरू करने पर खजाने पर पड़ने वाले खर्च का आकलन करवा रही है. 

लखनऊ में पुरानी पेंशन बहाली को लेकर शिक्षक कर्मचारियों का प्रदर्शन

बता दें कि यूपी सरकार ने कोरोना महामारी के समय 13 मई 2020 को राज्य की अस्त व्यस्त हालात और अर्थव्यवस्था को देखते हुए 8 भत्ते बंद कर दिए थे. जिसमें सीसीए समेत आठ भत्ते शामिल थे. सीसीए के साथ ही उस समय सचिवालय भत्ता, पुलिस से जुड़ा विशेष भत्ता, सभी विभागों के अवर अभियंता का विशेष भत्ता, लोक निर्माण के कार्मिकों का भत्ता, अर्दली भत्ता, डिजाइन भत्ता और आईएंडपी भत्ता को राज्य सरकार ने बंद कर दिया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें