यूपी सरकार करेगी आंगनवाड़ी में पंजीरी देना बंद, सूखे राशन और दूध का होगा वितरण

Smart News Team, Last updated: 04/10/2020 12:46 PM IST
  • विभागीय अपर मुख्य सचिव राधा एस चौहान ने अन्य प्रदेशों की तर्ज पर शुरू करने के लिए टेक होम राशन की व्यवस्था को लागू करने के आदेश जारी कर दिये हैं. वितरण किए जाने वाले सामान को अलग-अलग जगहों से लिया जाएगा.इस योजना को अमलीजामा पहनाने में अभी 2 साल का समय लग सकता है.
आंगनवाड़ी केंद्र (फाइल फोटो) 

लखनऊ. पंजीरी वितरण में चल रहीं धांधली के चलते अब आंगनवाड़ी केंद्रों से पंजीरी की जगह सूखा राशन और दूध दिए जाने की योजना तैयार की जा रही है. जानकारी मिली है कि राशन के रूप में गेहूं, चावल, दाल, सूखा दूध और देसी घी दिया जाएगा. इसके वितरण के लिए सहायता समूह के द्वारा किया जाएगा. इसेक लिए आदेश जारी किया जा चुका है. लिहाजा अभी इस योजना को अमलीजामा पहनाने में अभी 2 साल का समय लग सकता है. 

इसके लिए विभागीय अपर मुख्य सचिव राधा एस चौहान ने अन्य प्रदेशों की तर्ज पर शुरू करने के लिए टेक होम राशन की व्यवस्था को लागू करने के आदेश जारी कर दिये हैं. वितरण किए जाने वाले सामान को अलग-अलग जगहों से लिया जाएगा. गेहूं और चावल भारतीय खाद्य निगम से, देशी घी और सूखा दूध पाउडर प्रादेशिक कोऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन लिमिटेड और दालों की खरीद स्थानीय स्तर पर की जाएगी जो स्वयं सहायता समूह को स्थानीय स्तर पर उपलब्ध कराया जाएगा. 

लखनऊ में जमकर उड़ाया जा रहा था धुआं, हुक्काबार सील, 14 गिरफ्तार

राज्य सरकार ने फैसला पंजीरी के वितरण में लगातार चल रही धांधली को देखते हुए लिया है.पहले राज्य सरकार ने 18 जिलों के स्वयं सहायता समूहों को काम देने का निर्णय लिया था लेकिन बाद में 57 जिलों की टेंडर प्रक्रिया में कंपनियों ने भाग नहीं लिया जिसके चलते पूरे प्रदेश में स्वयं सहायता समूहों को यह कार्य सौंप दिया. अब पोषाहार उत्पादन प्लांट लगाने और व्यवस्था को विकसित करने में कम से कम 2 वर्ष का समय लग जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें